शिकायतों का गुणवत्तापरक निस्तारण कराकर निस्तारण आख्या शिकायत पंजिका में करें अंकन-मुख्य विकास अधिकारी

    मुख्य विकास अधिकारी ने राहत कन्ट्रोल रूम का किया निरीक्षण,मुख्य विकास अधिकारी डा0 अमित पाल शर्मा ने नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) के प्रसार पर प्रभावी नियंत्रण के सम्बन्ध में तहसील सदर में स्थापित राहत कन्ट्रोल रूम का निरीक्षण किया। निरीक्षण के समय उपजिलाधिकारी सदर, जिला विद्यालय निरीक्षक, तहसीलदार सदर एवं स्वास्थ्य विभाग, पूर्ति कार्यालय, विद्युत विभाग, कृषि विभाग, नगर पालिका एवं पुलिस वायरलेस की टीम उपस्थित रही। मुख्य विकास अधिकारी ने दिनांक 14 अप्रैल तक प्राप्त शिकायतों व उनके निस्तारण के सम्बन्ध में जिला विद्यालय निरीक्षक से जानकारी प्राप्त। शिकायत पंजिका के आज के अवलोकन में पूर्वान्ह 11.30 बजे तक 581 शिकायते दर्ज पायी गयी। मुख्य विकास अधिकारी ने शिकायत पंजिका के क्रमांक 580 का अवलोकन किया जिसमें रोहित कुमार साहू ग्राम चकवड़ बाघराय द्वारा शिकायत की गयी कि गिरी कालेज में 29 लोग छत्तीसगढ़ के रूके हुये है जिन्हें खाने के लिये कुछ नही है। इस शिकायत के सम्बन्ध में जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा बताया गया कि प्रकरण की जांच तहसीलदार कुण्डा से करायी जा रही है। जनपद में सभी उपजिलाधिकारियों, तहसीलदार के लिये स्पष्ट निर्देश है कि बाहर से आये व्यक्ति जिन्हें क्वारंटाइन में रखा गया है उन्हें कम्युनिटी किचेन के माध्यम से भोजन की आपूर्ति करायी जाये। मुख्य विकास अधिकारी ने निर्देशित किया कि जांच आख्या प्राप्त होने के उपरान्त शिकायत पंजिका में अंकन सुनिश्चित कराये। शिकायत पंजिका के अवलोकन में शिकायत संख्या-572, 574, 575, 576, 577, 569, 570 में शिकायतों के सन्दर्भ में आख्या का उल्लेख नही पाया गया जिस पर मुख्य विकास अधिकारी ने जिला विद्यालय निरीक्षक को निर्देशित किया गया कि शिकायतों का गुणवत्तापरक निस्तारण कराकर निस्तारण आख्या शिकायत पंजिका में इसका अंकन किया जाये तथा रैण्डम आधार पर शिकायतकर्ता से वार्ता कर इसकी पुष्टि की जाये। इसके अतिरिक्त शिकायत के समय का भी अंकन किया जाये।