थर्मल स्कैनिंग कर 14 दिनों तक क्वॉरेंटाइन में रखने के लिए निर्देश:जिलाधिकारी


      अयोध्या, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी ने कोविड-19 से बचाव जनपद के सुल्तानपुर व अमेठी की सीमा पर पिठला में बनाए गए चेक पोस्ट का किया स्थलीय निरीक्षण।
चेक पोस्ट पर तैनात स्वास्थ्य विभाग व पुलिस की टीम को जनपद में पैदल चलकर आने वाले सभी व्यक्तियों की थर्मल स्कैनिंग करने तथा बॉर्डर के पास बनाए गए कोरनटाइन सेंटर में ही 14 दिनों तक क्वॉरेंटाइन में रखने के लिए निर्देश। उन्होंने कहा कि दूसरे जनपदों में आना जाना पूर्णता बंद किया जाए। दूसरे जनपद का कोई भी व्यक्ति किसी भी दशा में जनपद में प्रवेश न करने पाए। दोपहिया और चार पहिया वाहनों व वाहनों के पास को ध्यान से चेक किया जाए, यदि कोई बिना अति आवश्यक कार्य के अथवा फर्जी पास के द्वारा घूमता हुआ पाया जाए तो उसके वाहन को सीज करने के साथ-साथ संबंधित पर एफआईआर भी दर्ज कराई जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि जो जिस जनपद में कार्यरत है वह उसी जनपद में रहकर कार्य करें, किसी को भी दूसरे जनपदों में आने जाने की अनुमति नहीं है।



       इसके साथ ही डीएम व एसएसपी द्वारा जनपद के शहरी क्षेत्र चैक, पुरानी सब्जी मंडी व उसके  पास की गलियों में पैदल घूम कर लॉक डाउन की स्थिति का जायजा लिया गया। तदोपरांत अधिकारी द्वय द्वारा रिकाबगंज, कसाब बाड़ा, फतेहगंज, नाका चुंगी होते हुए जनपद के ग्रामीण क्षेत्र पलिया साहबदी, रानी बाजार, पटखौली, बारुन बाजार, चमनगंज, कुचेरा, इनायतनगर, रमेश नगर, बरईपारा, कुमारगंज आदि क्षेत्रों में भ्रमण कर तथा सुल्तानपुर बॉर्डर पर पहुंचकर पर लगाए गए चेक पोस्ट पर तैनात स्वास्थ्य विभाग व पुलिस विभाग की टीमों को लॉक डाउन जिला प्रशासन द्वारा जारी किए गए निर्देशों का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए।



      सुल्तानपुर व अमेठी बॉर्डर पर स्थापित चेकपोस्ट का निरीक्षण कर वापस लौटते समय चमनगंज में  सड़क के किनारे बुजुर्ग महिला को बैठा देख जिलाधिकारी श्री झा ने गाड़ी रोककर उसके वहां पर रहने की जानकारी ली जिससे पता चला कि वह बुजुर्ग महिला बोलने तथा चलने फिरने में असमर्थ है जिस पर जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी अशोक कुमार को महिला को एंबुलेंस के माध्यम से सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने तथा उसके लिए भोजन आदि की समुचित व्यवस्था कराने के निर्देश दिए।