वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संग जिलाधिकारी ने गेहूँ क्रय केन्द्र का औचक निरीक्षण


     अयोध्या, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, अयोध्या के साथ आज गेहूँ क्रय केन्द्र राजकीय गोदाम (विपणन शाखा) अमानीगंज (कुमारगंज), मिल्कीपुर व किसान सेवा सहकारी समिति लि0, मिल्कीपुर का आकस्मिक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान उप जिलाधिकारी, मिल्कीपुर तथा सम्बन्धित केन्द्र प्रभारी उपस्थित रहे।

     राजकीय गोदाम (विपणन शाखा), अमानीगंज केन्द्र का आकस्मिक निरीक्षण अपरान्ह 01.45 बजे किया गया। केन्द्र प्रभारी  आशुतोष सिंह तथा लेखपाल  विन्ध्या शरण तिवारी उपस्थित मिले। मौके पर अवधेश प्रताप तिवारी पुत्र हर्ष बहादुर तिवारी, निवासी ग्राम बकचुना, तहसील मिल्कीपुर के गेहूँ की तौल की जा रही थी। कृषक द्वारा बताया गया कि उनका कुल गेहूँ लगभग 32 कुन्तल होगा। केन्द्र प्रभारी को निर्देशित किया गया कि इस केन्द्र के अन्तर्गत आने वाले सभी कृषकों की सूची केन्द्र पर रखें तथा उनका पंजीयन कराकर टोकन जारी कर तत्क्रम में उनके गेहूँ की खरीद सुनिश्चित करें ताकि कृषक को गेहूँ विक्रय हेतु अनावश्यक परेशानी न उठानी पड़े। यह भी सुनिश्चित किया जाय कि सीधे कृषकों से ही गेहूँ की खरीद की जाय तथा सम्बन्धित लेखपाल भी क्रय केन्द्र पर उपस्थित रहें।



    किसान सेवा सहकारी समिति लि0, मिल्कीपुरः अपरान्ह लगभग 02.00 बजे इस केन्द्र का आकस्मिक निरीक्षण किया गया। मौके पर केन्द्र प्रभारी श्री मनोज कुमार सिंह तथा केन्द्र से सम्बन्धित 02 लेखपाल सर्वश्री भवानी प्रसाद व बल्देव तिवारी उपस्थित मिले। केन्द्र प्रभारी द्वारा बताया गया कि आज 2000 बोरे आये हैं। अब तक 10 कृषकों से कुल 703 कुन्तल गेहूँ की खरीद की गयी है। लेखपाल श्री भवानी प्रसाद ने बताया कि केवल कृषकों से ही गेहूँ की खरीद की जा रही है और जिनसे खरीद की गयी है, वे जमींदार और बड़े कृषक हैं। मौके पर उपस्थित उप जिलाधिकारी को निर्देशित किया गया कि वे केन्द्र के अन्तर्गत आने वाले सभी कृषकों की सूची केन्द्र पर रखवायें तथा एक प्रति सम्बन्धित लेखपाल के पास भी उपलब्ध रहनी चाहिए। इन कृषकों का पंजीयन कराकर टोकन नम्बर जारी करायें तथा उसी क्रम में उनके गेहूँ की खरीद करायें। यह भी सुनिश्चित करायें कि किसी भी दशा में बिचैलियों का गेहूँ क्रय केन्द्र पर न क्रय किया जाय। यह भी निर्देशित किया गया कि कृषकों को इस बात के लिए प्रेरित किया जाय कि वे अपना गेहूँ किसी बिचैलिये को न बेचकर सरकारी क्रय केन्द्र पर ही बेचें।

    गोदाम के अन्दर काफी संख्या में बोरो में भर कर गेहूँ रखा गया था किन्तु इन बोरों की सिलाई नहीं की गयी थी जिसके बारे में पूछे जाने पर केन्द्र प्रभारी द्वारा बताया गया कि मौसम खराब होने के कारण इसे तत्काल गोदाम में रख दिया गया। निर्देशित किया गया कि इन बोरों की सिलाई तत्काल सुनिश्चित करायें। इन बोरों में रखे गये गेहूँ की गुणवत्ता का भी परीक्षण किया गया, इनकी गुणवत्ता ठीक पायी गयी। उप जिलाधिकारी, मिल्कीपुर को निर्देशित किया गया कि वे अपनी तहसील क्षेत्रान्तर्गत आने वाले सभी 10 गेहूँ क्रय केन्द्रों का प्रतिदिन स्वयं, तहसीलदार/नायब तहसीलदार के माध्यम से निरीक्षण करायें।
  समस्त केन्द्र प्रभारियों को निर्देशित किया गया कि वर्तमान में कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी को देखते हुए केन्द्र पर सभी पल्लेदारों/मजदूरों को 2-2 मास्क अवश्य दिये जायं ताकि वे उनका वैकल्पिक तरीके से उपयोग कर सकें। साथ ही उपयोग हेतु सैनिटाइजर, साबुन, पानी आदि की भी व्यवस्था करायें तथा सोशल डिस्टेन्सिंग का शत-प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित करते हुए खरीद में तेजी लायें।