फैसेल्टी क्वारेन्टाईन सेन्टरों का औचक निरीक्षण करते जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार



जिलाधिकारी ने फैसेल्टी क्वारेन्टाईन सेन्टरों का किया औचक निरीक्षण, कम्युनिटी किचेन में बन रहे भोजन की गुणवत्ता को परखा। 

       प्रतापगढ़, जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार ने आज मार्डन साइन्स इण्टर कालेज, बी0एस0एस0 एकेडमी तथा डा0 जयमंगल सिंह प्राथमिक प्रशिक्षण संस्थान भुपियामऊ में बने फैसेल्टी क्वारेन्टाईन सेन्टरों का निरीक्षण किया। मार्डन साइन्स इण्टर कालेज के निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने कम्युनिटी किचेन में बन रहे रोटी, दाल, चावल, सब्जी निकलवाकर खाते हुये उसकी गुणवत्ता को परखा। उन्होने भोजन बना रहे रसोइये को निर्देश दिया कि भोजन बनाते समय मुॅह को रूमाल/गमछा या मास्क लगाये तथा हाथों में ग्लब्स और सर को गमछे या टोपी से ढक ले। जिलाधिकारी ने कमरों में रह रहे प्रवासी मजदूरों से भोजन की गुणवत्ता एवं अन्य सुविधाओं के सम्बन्ध में जानकारी ली।


       जिलाधिकारी ने प्रत्येक कक्ष में जाकर सोशल डिस्टेसिंग की स्थिति का जायजा लिया तथा कक्ष में रह रहे श्रमिकों को भी मुॅह ढकने हेतु गमछा/रूमाल/मास्क का प्रयोग नियमित रूप से करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि जिन मजदूरों के क्वारेन्टाइन की अवधि पूर्ण हो गयी है और उनका सैम्पल निगेटिव पाया गया है तथा कोई लक्षण नही है ऐसे मजदूरों को 15 दिवस हेतु राशन किट देकर उन्हें उनके घर भेजने की व्यवस्था करायें तथा उन्हें भेजने के पूर्व उनके मोबाइल पर आरोग्य सेतु एप अवश्य डाउनलोड कराये ताकि कोरोना संक्रमण की सूचना उन्हें प्राप्त हो सके। 



       इसी तरह जिलाधिकारी ने बी0एस0एस0 एकेडमी के निरीक्षण के समय क्वारेन्टाइन किये गये मजदूरों से उनके स्वास्थ्य, भोजन व्यवस्था के सम्बन्ध में जानकारी ली तथा कम्युनिटी किचेन का निरीक्षण किया। तहसीलदार सदर द्वारा बताया गया कि यहां रह रहे 59 मजदूर का क्वारेन्टाइन अवधि पूर्ण हो गयी है। जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराने के बाद मजदूरों को 15 दिवस हेतु राशन किट देकर उनके घर भेजने की व्यवस्था करें। इसके अलावा जिलाधिकारी ने डा0 जयमंगल सिंह प्राथमिक प्रशिक्षण संस्थान भुपियामऊ का निरीक्षण किया जहां पर आज अन्य प्रदेशों से आ रहे मजदूरों के रहने की व्यवस्था की गयी है।



       डा0 रूपेश कुमार ने संस्थान के किचेन की साफ-सफाई एवं प्रत्येक कक्ष में उनके रहने, बिजली, पंखे, पेयजल, शौचालय की व्यवस्था का जायजा लिया। जिलाधिकारी ने पूरे परिसर को सेनेटाइज कराने का निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी को दिया तथा प्रवासी मजदूरों के आगमन पर उनका पता, मोबाईल नम्बर, आधार नम्बर आदि पूरी जानकारी शासन द्वारा निर्धारित प्रारूप पर अंकित करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने कहा कि प्रवासी मजदूरों के आने पर उनका परीक्षण कराया जाये यदि उनमें कोई लक्षण नही पाया जाता है तो और वह पूरी तरह स्वस्थ है उन्हें 15 दिवस राशन किट देते हुये उन्हें होम क्वारेन्टाइन हेतु उनके घर भेजवा दिया जाये। निरीक्षण के दौरान अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) शत्रोहन वैश्य, समस्त उपजिलाधिकारी, जिला सूचना अधिकारी विजय कुमार भी उपस्थित रहे।