आजाद हिंद फौज के सिपाही के नाम सड़क पर लगा शिलापट तोड़े जाने से ग्रामीण भड़के

        राम जनम यादव
     अयोध्या, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के नाम से सड़क पर  लोकार्पण को लगे शिला पट को तोड़ दिये जाने से ग्रामीण भड़के।आक्रोशित युवाओं ने मानक के विपरीत हो रहे सड़क निर्माण कार्य की जांच व तोड़े गये लोकार्पण शिलापट को पुनःलगवाने की मांग जिलाधिकारी से कर प्रकरण की शिकायत मुख्यमंत्री पोर्टल पर दर्ज कराई हैं।


      विकासखंड तारुन के जाना बाजार तारुन संपर्क मार्ग के बसंती का पूरा से ओझाने होते हुए नंसा जाना संपर्क मार्ग तक के मार्ग का निर्माण कार्य लोक निर्माण विभाग के द्वारा कई महीनों से कराया जा रहा था।  निर्माण कार्य के शुरुआती दौर से ही मानक के विपरीत निर्माण कार्य कराने को ग्रामीणों ने प्रकरण की शिकायत जिले के उच्चाधिकारियों से की थी।  ग्रामीणों से कई बार कार्यदायी संस्था के कर्मियों से कई बार नोकझोंक भी चुकी हैं। 


       विदित हो कि इस सड़क का निर्माण ग्राम पंचायत प्रधान रही अनीता ने मिट्टी पटाई का कार्य कराया था और मार्ग का नाम आजाद हिंद फौज के सिपाही स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्री राम अचल वर्मा के नाम से नामकरण का सिला पट लगवाया था। जिसका लोकार्पण पूर्व राज्य मंत्री सीताराम निषाद ने किया था। तत्पश्चात खड़ंजा मार्ग का लोकार्पण जिला पंचायत रहे श्री निवास तिवारी ग्राम प्रधान अमरावती वर्मा की अध्यक्षता में लोकार्पण किया था। सड़क पर लगे स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के लोकार्पण का शिला पट शरारती तत्त्वों ने तोड़कर खड्डे में गिरा दिया । क्षेत्र के सम्भ्रांत लोगो ने सड़क नामकरण का शिलापट पुनः लगवाने मानक के विपरीत हो रहे निर्माण कार्य की जांच कराने की मांग क्षेत्र के श्री भगवान बर्मा,रजनीश वर्मा, अतुल कुमार, विनोद कुमार, अरुण कुमार आदि युवाओं ने जिलाधिकारी से करते हुए इसकी शिकायत मुख्यमंत्री पोर्टल पर की। नामकरण के पत्थर तोड़े जाने की निंदा जिप सदस्य श्रीनिवास तिवारी, जनौस के शेर बहादुर शेर, भाजपा के सुरेंद्र वर्मा, जिप सदस्य रहे बसपा नेता रविंद्र भारती, माकपा के शेख मोहम्मद इशहाक, सहित समाजसेवी जगदंबा सिंह आदि लोगो ने करते हुये स्वतंत्रता संग्राम सेनानी की तोड़े गये शिलापट  का पत्थर पुनः लगवाने की मांग की हैं।