एक नज़र अयोध्या की खबर पर


        अयोध्या, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा व मुख्य विकास अधिकारी प्रथमेश कुमार ने कोविड-19 महामारी के कारण देशव्यापी लॉक डाउन के चलते देश के विभिन्न प्रदेशों से विभिन्न ट्रेनों (श्रमिक स्पेशल) से आने वाले श्रमिकों/यात्रियों को फैजाबाद जंक्शन पर उतारने, उन्हें भोजन, पानी आदि की सुविधा उपलब्ध कराने तथा सुगमता से उन्हें गंतव्य तक पहुंचाने हेतु पूर्व में लगाए गए अधिकारियों/कर्मचारियों के अतिरिक्त लगाए गए अधिकारियों के साथ की बैठक। बैठक में जिलाधिकारी ने ड्यूटी पर लगाए गए सभी अधिकारियों को ड्यूटी स्थल पर निर्धारित समय से 15 मिनट पूर्व में पहुंचने तथा कोविड-19 से बचाव के सभी नियमों का पालन करते हुए प्रभारी अधिकारी के बताए अनुसार पूर्ण तत्परता से ड्यूटी करने के निर्देश दिए।
 


      बैठक में जिलाधिकारी ने बताया कि जंक्शन पर यात्रियों को उतारने, उन्हें भोजन, पानी आदि उपलब्ध कराने तथा सुगमता से उन्हें गंतव्य तक पहुंचाने हेतु तीन पालियों ( पूर्वाहन 8 से अपराह्न 4 बजे तक, अपराह्न 4 बजे से रात्रि 12 बजे तक तथा  रात्रि 12 बजे से पूर्वाह्न 8 बजे तक) में अतिरिक्त 22 अधिकारियों/कर्मचारियों की ड्यूटी लगाते हुए क्रमशः अपर जिलाधिकारी नगर, अपर जिलाधिकारी प्रशासन व मुख्य राजस्व अधिकारी को प्रभारी अधिकारी बनाया गया है। जो अपने-अपने निर्धारित समयावधि में ड्यूटी पर लगाए गए अधिकारियों/कर्मचारियों से समन्वय स्थापित करते हुए अपेक्षित कार्यवाही सुनिश्चित कराएंगे।


     तहसील सदर के ग्राम उनियारपुर, विकासखंड मया बाजार में एक कोरोना संक्रमित व्यक्ति के मिलने पर उक्त गांव को 1 किलोमीटर परिधि में सील कर दिया गया हैं तथा 3 किलोमीटर की परिधि को बफर जोन घोषित करते हुए गांव के साथ 1 किलोमीटर की परिधि में विसंक्रमित तथा संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आये हुए लोगो के सर्वे के कार्य की मॉनिटरिंग हेतु उप प्रभागीय वन अधिकारी अरुण कुमार सिंह मो0 9792413474 को मजिस्ट्रेट के रूप में तैनात कर जिला मजिस्ट्रेट श्री अनुज कुमार झा द्वारा क्या-क्या कार्य  टीम द्वारा कराया जाना है तैनात मजिस्ट्रेट को ब्रीफ कर दिया गया है। इसी प्रकार तहसील सदर के अंतर्गत ही ग्राम दलपतपुर मजरा गोंडियन में भी कोरोना वायरस से एक संक्रमित व्यक्ति के मिलने पर उस गांव को भी 1 किलोमीटर की परिधि को सील कर 3 किलोमीटर की परिधि को बफर जोन घोषित कर दिया गया है। उक्त जानकारी देते हुए जिला मजिस्ट्रेट अनुज कुमार झा ने बताया कि संक्रमण का फैलाव न होने पाए इसके लिए शासन, स्वास्थ्य विभाग एवं जिला प्रशासन द्वारा जारी की गई गाइडलाइन व आदेशो के अनुसार सुरक्षा एवं बचाव के सभी उपाय तेजी से किये जा रहे है समस्त कार्यो  को अपने उपस्थिति में कराने हेतु सहायक चकबंदी अधिकारी श्री जितेंद्र कुमार मोबाइल नंबर 9140629089 को मजिस्ट्रेट के रूप में तैनात कर उन्हें समस्त कार्यो के सम्पादन हेतु  अपने उपस्थित में कराने के निर्देश दिए है। जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि दोनों गांव की 1 किलोमीटर की परिधि के लोगों को विशेष सतर्कता  फिर हाल ध्यान रखना है। वे सभी घर पर ही रहे, गांव के किसी भी व्यक्ति से न तो संपर्क करें ,न ही किसी के घर आए-जाए। बहुत ही अति आवश्यक होने पर ही मास्क पहनकर एक ही व्यक्ति बाहर निकले ।सोशल  डिस्टेंसिंग बनाए रखें ।गर्म भोजन करें वह गर्म पानी पिए। समय-समय पर हाथों को सैनेटाइज करें। जिला मजिस्ट्रेट ने बताया कि मिले कोरोनावायरस व्यक्तियों के गांव को पूर्ण रूप से विसंक्रमित किया जा रहा है। सर्वे टीम के माध्यम से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए हुए  व्यक्तियों व उन व्यक्तिओ जिनमे कोरोना वायरस  के लक्षण प्रकट मिलते है को चिन्हित कर उन्हें 14 दिन के लिए कोरोना फैसेलटी सेंटर में कोरेन्टीन करने के निर्देश दिए गए है किसी को भी घबराने व परेशान होने की आवश्यकता नहीं है। जिला प्रशासन द्वारा सुरक्षा एवं बचाव के सभी उपाय किए जा रहे हैं ।जनपद के सभी नागरिकों से अपील है कि सोशल डिस्टेंसिंग वह मास्क पहनने के नियमों को हमेशा पालन करते रहे ।



      माननीय जिला एवं सत्र न्यायाधीश फैजाबाद ने माननीय उच्च न्यायालय इलाहाबाद से प्राप्त आदेश दिनांक 5 मई 2020 के अनुपालन में अधिष्ठान स्थित विभिन्न न्यायालयों वीडियो काफ्रेंसिंग के संचालन की व्यवस्था दिनांक 8.05.2020 से अग्रिम आदेश तक की गयी थी। भारत सरकार के द्वारा तृतीय चरण के लाकडाउन की समाप्ति के उपरान्त चतुर्थ चरण के लाकडाउन की घोषणा दिनांक 31.05.2020 तक की अवधि हेतु की गयी है। इस क्रम में जिलाधिकारी अयोध्या से प्राप्त दिनांक 17.05.2020 की सूचना के अनुसार फैजाबादध्अयोध्या में जनपद न्यायालय परिसर, कलेक्ट्रेट परिसर अयोध्या कंटोमेंट जोन में नहीं है। अतः माननीय उच्च न्यायालय के उपरोक्त पत्र के अनुपालन में दिनांक 9.05.2020 के द्वारा संचालित होने वाले न्यायालय वीडियों काफ्रेंसिंग के माध्यम से अग्रिम आदेश तक पूर्व संचालित होते रहेंगे। उपरोक्त लाकडाउन की अवधि में गिरफ्तार कर प्रस्तुत किये गये अभियुक्तांे के रिमांड व जमानत का कार्य रिमांड मजिस्ट्रेट द्वारा पूर्व की भांति किया जायेगा। जिन मामलों मंे माननीय उच्च न्यायालय अथवा माननीय उच्चतम न्यायालय के किसी आदेश के क्रम में समयबद्ध किसी अवधि के मामले का निस्तारण किया जाना अपेक्षित है अथवा दिन प्रतिदिन के आधार पर सुनवाई किया जाना अपेक्षित है। समस्त मामले सम्बंधित पीठसीन अधिकारियों के समक्ष न्यायालय के समान्य रुप से खुलने की तिथियों तक प्रस्तुत किये जायेंगे।
वीडिया काफ्रेसिंग के माध्यम से सुनवाई हेतु निर्धारित प्रकरणों के अतिरिक्त अधिष्ठान के समस्त न्यायालयों में दिनांक 18.05.2020 से आगामी तिथियों में नियत अन्य सभी मुकदमें यथा दाण्डिक, सिविल वाद आदि जिला सत्र न्यायाधीश, अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश, विशेष न्यायाधीश परिवार न्यायालय, अतिरिक्त परिवार न्यायालय, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट, अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट।



       जिलाधिकारी  ने बताया कि कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत जनपद में बाहर से आने वाले व्यक्तियों की निगरानी हेतु ग्राम/मोहल्ला निगरानी समितियों का गठन किया जा चुका है तथा जिला पंचायत राज अधिकारी एवं जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी को प्रतिदिन आख्या संकलित करने का उत्तरदायित्व सौंपा गया है। इसके अतिरिक्त कोरोना कन्ट्रोल रूम से संकलित की गयी तीन प्रकार की सूचियों पर फॉलोअप कार्य करने हेतु श्री प्रशान्त नागर, आई.ए.एस. (प्रशिक्षु) तथा डा0 एम0 ए0 खान, जिला मलेरिया अधिकारी को नामित किया गया है जिनके द्वारा उचित लक्षण वाले व्यक्तियों का त्वरित ढंग से कोरोना टेस्ट कराने का कार्य किया जा रहा है। तत्क्रम में जिलाधिकारी ने विकास खण्ड स्तर से सहायक विकास अधिकारी (पंचायत), बाल विकास परियोजना अधिकारी, खण्ड प्रेरक एस0बी0एम0 (ग्रामीण) एवं बी0सी0पी0एम0 को आदेशित किया है कि वे प्रत्येक दिन एक साथ बैठक कर सभी ग्राम प्रधानों, स्वास्थ्य कर्मियों, आंगनबाडी, कार्यकत्रियों आदि से फोन पर वार्ता कर कोरोना लक्षण वाले व्यक्तियों की सूची, बाहर से सीधे आने वाले यात्रियों की सूची तथा होम क्यारंटाईन का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों की सूची सूचियां एकत्रित करें एवं प्रत्येक ग्राम पंचायत में इस हेतु पृथक रजिस्टर बनाकर अलग-अलग पृष्ठों पर यह तीन सूचियां प्रतिदिन अद्यतन करें एवं उनकी फोटो खीच कर व्हाट्स ऐप आदि के माध्यमों से विकास खण्ड की टीम को उपलब्ध करायें। इसी के साथ विकास खण्ड स्तर पर प्रतिदिन एक्सेल सीट में इस सूची को फीड करते हुए अद्यतनीकृत किया जाय एवं जनपद स्तरीय टीम को प्रदान किया जाय। जिलाधिकारी ने कहा कि विकास खण्ड स्तरीय टीम द्वारा ग्राम निगरानी समिति से वार्तालाप में यह सुनिश्चित किया जायें कि उसके पास पर्याप्त संख्या में होम क्वारंटाईन से सम्बन्धित पर्चा उपलब्ध हो तथा प्रत्येक बाहर से आने वाले व्यक्ति के घर पर स्वास्थ्य कर्मी द्वारा कोविड-19 के दृष्टिगत होम क्वारण्टाइन हेतु श्रमिक के आने की तिथि एवं उससे 21 दिन बाद की तिथि अंकित करते हुए तथा अन्य विवरण भरते हुए चस्पा किया जाय। इसी के साथ ग्राम निगरानी समिति द्वारा सभी ग्रामवासियों के मोबाइल फोन पर आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड कराया जाना भी सुनिश्चित किया जाय, विशेषकर बाहर से आने वाले व्यक्तियों के मोबाइल फोन (स्मार्ट फोन) पर यह ऐप डाउनलोड कराना अनिवार्य होगा।



    मंडलायुक्त एमपी अग्रवाल के निर्देशों के क्रम में जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने जनपद के सभी उप जिलाधिकारियों, खंड विकास अधिकारियों व नगर निकाय के अधिशासी अधिकारियों को बाहर से आने वाले सभी प्रवासी श्रमिकों के घरों के बाहर श्रमिक के जनपद में आने के दिन से 21 दिनों तक होम क्वॉरेंटाइन में रहने का पोस्टर/फ्लेयर लगाने के कार्य पूर्ण कर लिया गया है भविष्य में बाहर से आने वाले श्रमिको व व्यक्तियो को होम कोरंटरइन करने के समय ही टीम द्वारा उनके घर के मुख्य द्वारा पर होम क्वरंटाइन का पोस्टर लगाकर तिथियां अंकित कर दी जायेंगी। उन्होंने कहा कि पोस्टर में श्रमिक के होम क्वारण्टाइन में रहने की अवधि उसके घर आने से 21 दिन अवश्य अंकित हो। साथ-साथ उसका नाम, पता, मोबाइल नंबर व परिवार में सदस्यों की संख्या भी अंकित हो। जिलाधिकारी ने जनपदवासियों से अपील की है कि कोरोना से बचाव के बाहर से आये व्यक्तियों के सम्पर्क बचें तथा मास्क का प्रयोग अवश्य हर समय करें, साथ ही अपने मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु ऐप अवश्य डाउनलोड करें। उन्होंने कहा कि यदि कोई होम क्वारण्टाइन का उल्लंघन करता है तो हेल्पलाइन नम्बर 9453116001, 7081670802, 9919805363 पर काॅल कर अथवा व्हाट्सएप नम्बर 7081708022 पर सूचना दें। उन्होंने सभी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि क्वारण्टाइन के नियमों व सरकार/जिला प्रशासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने वालों पर कड़ी कार्यवाही की जाये।


      अनुज कुमार झा ने राजकीय इंटर कॉलेज अयोध्या में बाहर से आने वाले प्रवासी श्रमिकोंध्व्यक्तियों के थर्मल स्कैनिंग/स्वास्थ्य परीक्षण व उनके लिए किए गए भोजन-पानी आदि व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि बाहर से आने वाले प्रवासी श्रमिकों को राजकीय इंटर कॉलेज मे पहुंचने पर तत्काल भोजन एवं पानी उपलब्ध कराएं, यदि कोई गर्भवती महिला आये तो उसे प्राथमिकता के साथ यथाशीघ्र सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराएं। उन्होंने कहा कि जिन व्यक्तियों के पास मास्क न हो उन्हें मास्क उपलब्ध कराएं तथा जिनके पास चप्पल या जूता न हो तो उसे चप्पल भी उपलब्ध कराया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि थर्मल स्कैनिंग के समय सभी प्रवासियों से सर्दी, खांसी, जुकाम व कोविड-19 के अन्य लक्षणों की जानकारी अवश्य लें इसके साथ-साथ उसके यात्रा के संबंध में भी जानकारी ली जाए। किसी भी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण पाए जाने पर उसे तत्काल अस्पताल भेजने की कार्यवाही की जाये। उन्होंने कहा कि  सभी श्रमिकों को सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराते हुए उनके गंतव्य हेतु बसों या अन्य वाहनों से रवाना किया जाए।


     जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने विशेष ट्रेनों के माध्यम से आने वाले प्रवासी श्रमिकों हेतु फैजाबाद जंक्शन रेलवे स्टेशन की गई व्यवस्थाओं को और सुदृढ़ करने हेतु रेलवे स्टेशन का भ्रमण किया । इस दौरान जिलाधिकारी ने ट्रेन पहुंचते ही सभी श्रमिकों को भोजन के पैकेट एवं पानी की बोतल में उपलब्ध कराने व यात्रियों की यथाशीघ्र थर्मल स्कैनिंग कराकर व उनकी ट्रैवल हिस्ट्री को नोट करते  हुए उनके गंतव्य तक भेजने के लिए वहां पर उपस्थित एडीएम सिटी, सिटी मजिस्ट्रेट, सीओ सिटी व अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश।