जिलाधिकारी ने क्वारंटीन किये गये लोगो के सतत निगरानी हेतु दिया टिप्स


       जिलाधिकारी, अनुज कुमार झा ने पाॅचो तहसीलो में बैठक कर ग्राम पंचायत स्तर पर गठित की जाने वाली निगरानी समिति के संबंध में उपस्थित उप जिलाधिकारी सहित खण्ड विकास अधिकारी व अन्य को दिये आवश्यक निर्देश तथा क्वारंटीन किये गये लोगो के सतत निगरानी हेतु दिये टिप्स।दिनांक 04 मई से ग्राम निगरानी समितिया व मोहल्ला निगरानी समितियां अपना कार्य  प्रारम्भ कर देंगे।


     मुख्य विकास अधिकारी, उप जिलाधिकारी, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, क्षेत्राधिकारी पुलिस, सीडीपीओ, खण्ड विकास अधिकारी, मेडिकल आफिसर के साथ की बैठक।यदि कोई व्यक्ति अपने गाॅव पैदल अथवा अपने निजी साधन से आया हे तो निगरानी समिति उस व्यक्ति का भी विवरण नोट करने के साथ परीक्षण करेगी और अवश्यकतानुार वे सभी नियमो एवं कार्यवाहियों का पालन करायेगी जो अन्य प्रान्तो से आये हुए श्रमिको के लिए किया गया है।किसी भी अन्य ग्रामवासी जो पहले से ही उस ग्राम में रह रहे है में कोरोना सम्बन्धी लक्षण प्रतीत होता है तो निगरानी समिति पर्यवेक्षणीय टीम को तत्काल सूचित करेगी।किसी व्यक्ति द्वारा अनावश्यक रूप से होम कवारण्टीन का उल्लंघन किया जा रहा है तो संबंधित बीट कान्टेबिल एवं हल्का इंचार्ज के माध्यम से तत्काल विधिक काय्रवाही की जायेगी।सभी ऐसे आये हुए श्रमिको, अन्य व्यक्तियो तथा ग्राम वासियो जिनके पास स्मार्ट फोन है में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड की भी कार्यवाही निगरानी समितियो द्वारा कराया जायेगा।


        जिलाधिकारी ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार अन्य प्रान्तों से प्रवासी कामगारो व श्रमिको को प्रदेश में लौटने पर हर व्यक्ति की थर्मल स्क्रीनिंग के साथ एक निर्धारित प्रारूप पर उनका नाम, गाॅव में आने का दिनांक, गाॅव में आने का साधन, पिता का नाम, उम्र, मोबाइल नम्बर, सर्दी, खासी, बुखार, साॅस लेने में तकलीफ या अन्य कोई बीमारी, होम क्वारंटीन किया गया या आश्रय अस्थल भेजा गया और अन्त में 10वे कालम यदि विशेष बात हो तो दर्ज की जायेगी। उक्त अंकन के पश्चात थर्मल स्क्रीनिंग के समय किसी भी प्रकार के लक्षण पाये जाने पर उन्हें फैसेल्टी क्वारंटाइन में रखा जायेगा और उनके सैम्पुल लेकर कोविड-19 की जाॅच हेतु भेजा जायेगा।


     जाॅच रिर्पोट पाॅजटिव पाये जाने पर संबंधित व्यक्ति को कोविड-19 एल-1 अस्पताल में भर्ती कराया जायेगा तद्पश्चात शेष समस्त लोगो को क्वांटाइन सेन्टर भेजने अथवा होम क्वारंटाइन सेन्टर में रहने के निर्देश दिये जायेंगे। ग्राम स्तर एवं मोहल्ला स्तर पर क्वारंटाइन पर क्वारंटाइन किये गये लोगो के निगरानी हेतु ग्राम पंचायत स्तर पर ग्राम निगरानी समिति जिसमें 10 सदस्य होंगे। जिसमें ग्राम प्रधान अध्यक्ष, आशा बहूॅ, आगनवाड़ी कार्यकत्री/सहायिका, चैकीदार, युवक मंगलदल के सदस्य, प्रधानाचार्य प्राथमिक विद्यालय, सचिव ग्राम पंचायत, लेखपाल/राजस्व कर्मचारी व बीट आरक्षी सदस्य होंगे। इसी प्रकार नगरिये क्षेत्रो हेतु मोहल्ला निगरानी समिति गठित की जानी है जिसमें 09 सदस्य होंगे सभासद/पार्षद निगरानी समिति के अध्यक्ष, आशा बहूॅ, आॅगनवाड़ी कार्यकत्री/सहायिका, बीट आरक्षी, नेहरू युवा केन्द्र अथवा सिविल डिफेन्स के स्वंय सेवक, प्रधानाचार्य प्राथमिक विद्यालय, नगर निकाय के कर्मचारी व लेखपाल सदस्य के रूप में दिये गये उत्तर दायित्व का निर्वाहन करेंगे।


        जिलाधिकारीने आगे बताया कि उक्त निगरानी समिति जनपद के समस्त ग्राम पंचायतो एवं समस्त नगर निकायो व नगर निगम में गठित व क्रियान्वित की जानी है जिनके द्वारा समस्त कवारंटाइन किये गये व्यक्तियो के स्वास्थ्य से सम्बन्धित गतिविधियो पर सतत निगरनी रखेंगे किसी प्रकार की आपात कालीन परिस्थिति में कन्ट्रोल रूम को सूचित करेंगे। उन्होंने आगे बताया कि प्रत्येक 10 ग्राम निगरानी समिति/मोहल्ला निगरानी समिति पर पर्यवेक्षणीय समिति का गठन किया जायेगा जिनके सदस्य सहायक विकास अधिकारी एवं राजस्व निरीक्षक होंगे। इस संबंध में समस्त उप जिलाधिकारियो, नगर पंचायतो एवं नगर पालिका परिषदो के अधिशाषी अधिकारी तथा नगर निगम के नगर आयुक्त को आज ही निगरानी समिति एवं पर्यवेक्षणीय समिति के गठन कर सूचना कन्ट्रोल रूम को उपलब्ध कराने के निर्देश दे दिये गये है। उन्होंने बताया कि पर्यवेक्षणीय समिति का अनुश्रवण संबंधित खण्ड विकास अधिकारी एवं तहसीलदार द्वारा किया जायेगा।