कक्षा 3 की छात्रा 8 वर्षीय मासूम बच्ची ने रखा पहला रोज़ा,अल्लाह से कोरोना खत्म करने की माँगी दुआ


     भेलसर(अयोध्या)बरकत मग़फ़िरत व नेमतों के माह रमजान में हर माँ बाप के दिल में ये हसरत होती है कि वह अपने बच्चे की रोज़ा कुशाई खूब धूम धाम से करें।मगर इस बार कोरोना वायरस जैसी घातक महामारी ने सब की हसरतों पर पानी फेर दिया।
लॉकडाउन के चलते सभी समारोह पर पूर्णतया पाबंदी है।लेकिन हौसलों पर कोई पाबंदी नही इसी हौसले के साथ रुदौली नगर के मोहल्ला सूफियाना निवासी अलीम कशिश की भतीजी व पत्रकार मोहम्मद कलीम की 8 वर्षीय मासूम बेटी हरम फात्मा "तूबा" ने इस तेज धूप व सख्त गर्मी में पहला रोज़ा रखा और लगभग साढ़े चौदह घण्टे पूरे दिन बिना कुछ खाये पिये गुज़ारा।इफ्तार का वक्त होते ही परिवारों के साथ अपने नन्हें-नन्हे हाथ उठा कर अपने ईश्वर "रब" से दुनिया में फैली कोरोना वायरस जैसी घातक महामारी से निजात की दुआ भी मांगी।बच्ची ने बताया कि पवित्र माह रमजान का पहला रोजा रख कर उसे बेहद खुशी हुई।