कोरोना वायरस की जंग में अधिकारीगण निष्ठा एवं समर्पण से करें कार्य-जिलाधिकारी


                जिलाधिकारी ने टीम-11 के अधिकारियों के साथ की बैठक एवं दिये निर्देश। 
     


          प्रतापगढ़,  जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार की अध्यक्षता में आज कैम्प कार्यालय के सभागार में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं आमजनमानस को आवश्यक सुविधाये सुनिश्चित करने हेतु गठित टीम-11 के साथ बैठक की गयी। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि आगामी दिनों में लगभग 15 हजार प्रवासी मजदूर अन्य राज्यों से जनपद में आ रहे है इनकी थर्मल स्क्रीनिंग एवं इन्हें क्वारेन्टाइन किये जाने की एक बहुत बड़ी जिम्मेदारी आने वाली है अतः सभी अधिकारी सतर्क रहे एवं सभी विभाग एक टीम के रूप में आपस में समन्वय बनाकर कार्य करें, यह कार्य मानवता का कार्य है इसलिये कोरोना वायरस की जंग में निष्ठा एवं समर्पण से कार्य किये जाने की आवश्यकता है।


         जिलाधिकारी ने कहा कि जो भी प्रवासी मजदूर अन्य प्रदेशो से जनपद में आ रहे है मुख्य चिकित्साधिकारी उन सभी को स्क्रीनिंग टेस्ट कराये, यदि उनमें कोरोना वायरस के संक्रमण का कोई लक्षण नही है तो उन्हें 21 दिनों के लिये होम क्वारेन्टाइन में भेजा जाये। होम क्वारेन्टाइन की अवधि में प्रधान की अध्यक्षता में गठित निगरानी समिति उन लोगों पर नजर रखेगी ताकि होम क्वारेन्टाइन की अवधि में उन लोगों द्वारा इसका उल्लंघन न किया जाये। यदि उनके द्वारा इसका अनुपालन नही किया जाता है तो उसकी सूचना सम्बन्धित उपजिलाधिकारी को दी जायेगी और उन्हें होम क्वारेन्टाइन से निकालकर फैसेलेटी सेन्टर पर रखने की व्यवस्था की जायेगी। जिलाधिकारी ने बताया कि क्वारेन्टाइन की अवधि पूर्ण होने के उपरान्त प्रवासी श्रमिकों को 15 दिन हेतु राशन की किट दी जायेगी। श्रमिकों का पूरा नाम, पता आदि की सूचना 23 कॉलमों में भरकर राहत आयुक्त को पोर्टल पर अपलोड की जायेगी।


         जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि आशा, कार्यकत्री द्वारा घर के बाहर उचित स्थान पर एक होम क्वारेन्टाईन नोटिस का चस्पा कर दिया जाये जिससे उस घर के क्वारेन्टाईन के अन्तर्गत होने का संकेत मिल सके। उसके द्वारा परिवार के सदस्यों का भी उल्लेख किया जाये तथा क्वारेन्टाईन प्रारम्भ तथा समाप्त होने की तिथि न मिटने वाली स्याही इत्यादि से अंकित की जायेगी। होम क्वारेन्टाइन की अवधि में सम्बन्धित परिवार के लोग मुॅह पर गमछा या रूमाल या मास्क का प्रयोग करेंगें तथा साबुन से हाथ धुलने के नियम का पालन करेगें।


     जिलाधिकारी ने बैठक में समस्त अधिशासी अधिकारियों, उपजिलाधिकारियों को निर्देशित किया कि कम्युनिटी किचेन से असहाय एवं गरीब परिवारों को पका हुआ भोजन दिया जा रहा है उसकी सूचना सायं 5 बजे तक जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी को उपलब्ध करा दें। उन्होने अधिकारियों को निर्देशित किया कि पके हुये भोजन की गुणवत्ता की जांच प्रतिदिन की जाये तथा यह सुनिश्चित करें कि पात्र लोगों को भोजन का वितरण किया जाये। इसके साथ ही सब्जी मण्डियों में सोशल डिस्टेसिंग का अनुपालन सुनिश्चित करें यदि सब्जी मण्डी में पर्याप्त स्थान नही है तो किसी खुले स्थान पर सब्जी मण्डी लगवाने की व्यवस्था करें तथा प्रत्येक दशा में सोशल डिस्टेसिंग का अनुपालन सुनिश्चित हो सके। 


     जिलाधिकारी ने खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी प्रधानों के साथ बैठक करते हुये ग्राम पंचायतों में निगरानी समिति का गठन कर लें, निगरानी समिति में आशा, आंगनबाड़ी कार्यकत्री, नेहरू युवा केन्द्र एवं युवक मंगल दल के पदाधिकारी, चौकीदार एवं अन्य जागरूक लोगों को शामिल कर लें। निगरानी समिति के माध्यम से गांव में आने वाले प्रत्येक प्रवासी एवं होम क्वारेन्टाइन किये गये लोगों पर कड़ी निगाह रखी जाये ताकि कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि ग्राम पंचायत में सभी लोग आरोग्य सेतु एप अनिवार्य रूप से डाउनलोड कर लें ताकि इसके माध्यम से कोरोना संक्रमण की जानकारी प्राप्त हो सके।


     इसी तरह सभी अधिशासी अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि वार्डवार सभासद की अध्यक्षता में मोहल्ला निगरानी समिति का गठन कर लिया जाये, समिति में आशा, आंगनबाड़ी कार्यकत्री, चौकीदार, व्यापार मण्डल के प्रतिनिधि एवं अन्य सदस्यों को शामिल किया जाये। यह समिति शहरी क्षेत्रों में होम क्वारेन्टाइन किये गये लोगों की निगरानी करने एवं उसकी सूचना कन्ट्रोल रूम/जिलाधिकारी को देगें एवं अपने वार्डो में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड कराने हेतु प्रेरित करेगी। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डा0 अमित पाल शर्मा, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) शत्रोहन वैश्य, मुख्य राजस्व अधिकारी श्रीराम यादव, उपजिलाधिकारी सदर मोहन लाल गुप्ता, जिला सूचना अधिकारी विजय कुमार, जिला विकास अधिकारी सुदामा प्रसाद, समस्त खण्ड विकास अधिकारी, अधिशासी अधिकारी सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।