कोविड-19,जिला विधिक सेवा प्राधिकरण गरीबों को करेगा चिन्हित

        लखनऊर, प्रभारी सचिव, जिला विधिक प्राधिकरण लखनऊ संजीव कुमार-v ने बताया कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ के अध्यक्ष व जिला न्यायाधीश अनिल कुमार ओझा के मार्गदर्शन में कोरोना  महामारी को (कोविड-19) के दौरान लाकडाउन के समय जनपद लखनऊ में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ द्वारा ऐसे गरीबों को चिन्हित किया गया है जो प्रतिदिन मजदूरी करके अपने परिवार का पालन पोषण करते थे और वर्तमान में लाकडाउन के कारण अपने घरों में बैठे हैं जिससे उनके सामने रोटी का संकट खड़ा हो गया है जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष/जनपद न्यायाधीश, लखनऊ अनिल कुमार ओझा द्वारा न्यायिक अधिकारीगण की एक समिति का गठन किया गया है जिसमें  विनय सिंह, विशेष न्यायाधीश, सीबीआई, अध्यक्ष तथा सदस्य गण के रूप में रजनीश कुमार मिश्र, अपर जिला न्यायाधीश, श्रीमती पूर्णिमा सागर, प्रथम अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट तथा संजय कुमार-v प्रभारी सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ को नामित किया गया है ।
       उन्होंने बताया कि समिति निर्देशानुसार ऐसे लोगों के घर-घर जाकर सामाजिक दूरी का पूर्ण ख्याल रखकर कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से बचाव के उपाय बताते हुए खादय सामग्री, पके हुए भोजन के पैकेट, मास्क तथा दस्ताने आदि का वितरण सम्मानित न्यायिक अधिकारीगण विनय सिंह, विशेष न्यायाधीश सीबीआई, रजनीश कुमार मिश्र, अपर जिला न्यायाधीश लखनऊ, पूर्णिमा सागर, प्रथम अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट तथा  संजय कुमार, प्रभारी सचिव जिला विविध सेवा प्राधिकरण लखनऊ द्वारा दिनांक 24 मार्च 2020 से किया जा रहा है इस हेतु विनय सिंह, विशेष न्यायाधीश सीबीआई व उनके सहयोगी बटलर पैलेस लखनऊ में कम्युनिटी किचन चला रहे हैं जनपद के सभी क्षेत्रों में रहने वाले गरीब जरूरतमंद लोगों को भोजन एवं जरूरत का सामान पहुंचाया जा रहा है इस हेतु जिला विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ के कर्मचारीगण, पैरा लीगल वॉलिंटियर्स तथा जनपद न्यायालय लखनऊ के कर्मचारियों का सहयोग लिया जा रहा है।