कोविड-19 महामारी लाॅक डाउन के कारण श्रमिको एवं यात्रियो को मिलेगी समुचित व्यस्था:जिलाधिकारी


    अयोध्या, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने कोविड-19 महामारी लाॅक डाउन के कारण देश के विभिन्न भागो से श्रमिको एवं यात्रियो के फैजाबाद जक्शन पर उतराने एवं भोजन पानी आदि की उपलब्धता कराने एवं सुगमता से गन्तव्य तक पहुॅचाने के लिए अपर जिलाधिकारी के नेतृत्व में दो टीम का गठन किया गया है। जिसमें टीम ए के मे अपर जिलाधिकारी प्रशासन व अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण के साथ रेजीडेंट मजिस्ट्रेट अयोध्या एवं डिप्टी कलेक्टर लव सिंह क्षेत्राधिकारी अयोध्या जिला विकास अधिकारी अधिशासी अभियंता ग्रामीण अभियंत्रण सेवा सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक रोडवेज सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी परिवर्तन दो क्षेत्राधिकारी स्टेशन अधीक्षक रेलवे स्टेशन अयोध्या तहसीलदार सदर दो थानाध्यक्ष 05 दरोगा एवं अन्य सहयोगी रहेंगे।फीडिंग इंचार्ज के रूप में डीपीएम एवं डीसी (एमडीएम) को लगाया गया है तथा काउन्टर/बस कोर्डिनेशन के लिए नायब तहसीलदार अयोध्या एव नायब तहसीलदार सोहावल को लगाया गया है। भोजन एवं पानी की व्यवस्था के लिए तहसीलदार सदर को लगाया गया है तथा चिकित्सा प्रभारी के रूप में डा0 सीवी द्विवेदी अपर मुख्य चिकित्साधिकारी को लगाया गया है।


      इसी प्रकार टीम बी हेतु अपर जिला मजिस्ट्रेट नगर डॉ0 वैभव शर्मा व अपर पुलिस अधीक्षक नगर के साथ नगर मजिस्ट्रेट एवं उप जिला मजिस्ट्रेट सदर क्षेत्राधिकारी नगर परियोजना निदेशक डीआरडीए अधिशासी अभियंता प्रांतीय खंड लोक निर्माण विभाग सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक रोडवेज सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी प्रशासन दो क्षेत्राधिकारी स्टेशन अधीक्षक फैजाबाद जंक्शन तहसीलदार न्यायिक रुदौली दो थानाध्यक्ष 5 दरोगा एवं अन्य संबंधित सहयोगी रहेंगे, उनके साथ हम राही आदि को तैनात किया गया है। फिडिंग इंचार्ज के रूप में डीसीपीएम एवं डाटा मैनेजर, आईडीएसपी को लगाया गया है। काउन्टर/बस कौडीनेशन के लिए नायब तहसीलदार नगर एवं राजस्व निरीक्षक नगर को लगाया गया है। भोजन एवं पानी की व्यवस्था के लिए तहसीलदार न्यायिक रूदौली को लगाया गया है, चिकित्सा व्यवस्था के लिए डा0 एके सिंह अपर मुख्य चिकित्साधिकारी को प्रभारी बनाया गया है।जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियो के टीम संबंधी आदेश जारी कर दिया है तथा अपने-अपने कार्यो के लिए बेहतर समन्यव से करने का निर्देश दिया है।


        जनपद अयोध्या में अब तक 04 ट्रेनो द्वारा कुल 5156  श्रमिको को लाया जा चुका है, जिन्हें सोशल डिस्टेसिंग के साथ तत्काल भोजन, पानी उपलब्ध कराने एवं चिकित्सीय परीक्षण तथा थर्मल स्कैनिंग कर उन्हे 28-28 की संख्या में संबंधित जनपद मुख्यालय के जिला प्रशासन के संरक्षण में बसो से भेज दिया गया है। जहाॅ जिला प्रशासन द्वारा श्रमिको का श्रम विभाग द्वारा पंजीयन कराकर 14 दिन के राशन किट्स एवं थर्मल स्कैनिंग के पश्चात होम क्वारंटीन कराया जायेगा। जनपद अयोध्या के श्रमिको को संबंधित तहसील के उप जिलाधिकारी के संरक्षण व दिशा निर्देशन में थर्मल स्कैनिंग के प्श्चात 14 दिन के राश्ज्ञन किट्स के साथ संबंधित ग्रामो में 14 दिन के होम क्वारंटाइन के लिए भेजा गया है। जहाॅ जनपद के कन्ट्रोल रूम एवं ग्राम/मुहल्ला निगरानी समिति के द्वारा सभी श्रमिको का प्रतिदिन स्वास्थ्य संबंधित पूछॅ-ताछॅ करेगी। उन्होंने आगे बताया कि जलंधर से आई पहली ट्रेन में 1254 श्रमिक, दूसरी ट्रेन 1330 साबरमती से आई ट्रेन में 1372 श्रमिको तथा सूरत से आई ट्रेन में लगभग 1200 श्रमिको का जनपद में आगमन हुआ। इन श्रमिको में अयोध्या, बाराबंकी, अम्बेडकरनगर, सुल्तानपुर, आजमगढ़, सन्तकबीर नगर, बस्ती, लखीमपुर, गोण्डा, गोरखपुर, सिद्धार्थ नगर, श्रवास्ती, बहराइच, अमेठी, मऊ, बलिया, गाजीपुर, देवरिया, महाराजगंज, बलरामपुर, आगरा, प्रयागराज, औरेया, बनारस, बाॅदा, उन्नाव, कन्नौज, जालौन, मथुरा, मुरादाबाद, जौनपुर आदि जनपदों के श्रमिक शामिल थे।


        अयोध्या के फैजाबाद रेलवे स्टेशन पर भविष्य में  आने वाली ट्रेनों व आने वाले श्रमिको के लिए सफल कार्ययोजना के दृष्टिगत बनाई गई ठोस रणनीत। ताकि यथाशीघ्र उन्हें उनके जनपद में भेज जा सके। विगत 3 दिवसो  में आई 4 ट्रेनों के लिए बनाई गई सफल रणनीति व अनुभवों को देखते हुए और फूलफ्रूफ व्यवस्था के तहत 2 टीमें बनाई गई हैं। यदि 1 दिन में 02 ट्रेनें आती है तो एक ट्रेन के श्रमिकों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ उतारने, भोजन, पानी, स्वास्थ्य परीक्षण, थर्मल स्क्रीनिंग डेटा बेस तैयार करने, बसों में बिठाने, एवं गंतव्य जनपदों को रवाना करने का कार्य ए टीम करेगी जबकि दूसरी ट्रेन में आने वाले श्रमिकों के लिए बी टीम तैयार रहेगी। 
       कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में उक्त जानकारी देते हुए अनुज कुमार झा ने बताया कि रेलवे स्टेशन पर दो गेट बनाए गए दोनों गेट के पूर्व 5-5 काउंटर बनाए गए। प्रत्येक काउंटर पर जिला प्रशासन स्वास्थ्य व रेलवे के एक-एक कुल 3 कर्मचारी तैनात होंगे। गेट नंबर 1 पर जनपद अयोध्या के श्रमिकों को तथा गेट नंबर 2 पर अन्य जनपदों के श्रमिकों को 2-2 मीटर की दूरी पर बनाए गए गोले में खड़ा कर उनका नाम, पता, मोबाइल नंबर, चिकित्सा संबंधी पूछताछ ,थर्मल स्क्रैनिंग कर उन्हें एक पर्ची दी जाएगी जिसमें उनका पूर्ण विवरण, टेंपरेचर, बस नंबर अंकित होगा। गेट से बाहर निकलने पर उनकी सुविधा हेतु बस तक जाने हेतु सहायक काउंटर होगा जो इन्हें अपने बस तक जाने में सहायता प्रदान करेंगे। भविष्य में प्रत्येक बस में 24-24 श्रमिकों को रवाना किया जाएगा।


     उन्होंने आगे बताया कि एक ट्रेन को 2 से ढाई घंटे मे खाली कराया जाएगा तथा समस्त प्रक्रिया पूर्ण करने में 3 से 4 घंटे लगेंगे। एक श्रमिक का डेटाबेस नोट व थर्मल स्क्रीनिंग में औसतन 30 से 40 सेकंड लगेंगे। 
उन्होंने बताया कि कोई भी श्रमिक बिना थर्मल स्क्रैनिंग व भोजन पानी के बाहर न जाने पाए इसके लिए  विशेष एतिहात बरते जा रहे हैं तथा सजग निगरानी की जा रही है।

         अनुज कुमार झा ने बताया कि ट्रेन आने के 2 घंटे पूर्व सभी व्यवस्थाएं पूर्ण कर ली जाती है। हर अधिकारी एवं कर्मचारी को अच्छी तरह से ब्रीफ कर दिया जाता है। सभी टीमें आपसी समन्वय के साथ टीम भावना के साथ कार्य कर रही है। जिसके अच्छे परिणाम आ रहे। इसी प्रकार पुलिस के अधिकारियों व जवानों को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री आशीष तिवारीद्वारा महत्वपूर्ण टिप्स दिए जाते हैं, दोनों अधिकारी दुवारा टीमए एवं बी दोनों के साथ कार्य सम्पन्न होने तक पूरा समय दिया जा रहा है। मुख्य विकास अधिकारी प्रथमेश कुमार सभी कार्यो को तेजी से पूरा कराते है।