कोविड-19 से बचाव एवं इलाज से संबंधित जारी सभी निर्देशों का करें अक्षरशः अनुपालन- जिलाधिकारी

जिला अधिकारी अनुज कुमार झा ने जगत हॉस्पिटल का किया निरीक्षण। सभी निजी चिकित्सालय कोविड-19 से बचाव एवं इलाज से संबंधित जारी सभी निर्देशों का करें अक्षरशः अनुपालन- जिलाधिकारी

     अयोध्या, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने जगत हॉस्पिटल का किया निरीक्षण। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहां की एक मरीज के साथ एक ही अटेंडेंट को हॉस्पिटल में प्रवेश किया जाए, हॉस्पिटल के सभी स्टॉफ व अन्य व्यक्तियों का अस्पताल में प्रवेश से पूर्व ही प्रवेश द्वार पर थर्मल स्कैनिंग व हाथों को सैनिटाइज करके ही प्रवेश दें। सभी को मास्क अवश्य उपलब्ध कराएं। अस्पताल को दिन भर में कम से कम 2 बार डिसइनफेक्ट अवश्य कराएं। अस्पताल के अंदर सोशल डिस्टेंस पर विशेष ध्यान दें।
         


       इस अवसर पर उन्होंने हॉस्पिटल की ओपीडी रूम व प्लास्टर रूम, तीमारदारों व मरीजों के वेटिंग हाल आदि का निरीक्षण किया तथा हॉस्पिटल में डिसइन्फेक्शन व कोविड-19 से बचाव हेतु की गई व्यवस्थाओं की जानकारी ली उन्होंने हॉस्पिटल के चिकित्सक डॉ0 एस.एम. द्विवेदी से कहा कि पूरी सजकता बरतें और सभी प्रोटोकॉल का अनुपालन करते हुए चिकित्सीय सुविधाएं प्रदान करें।इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 घनश्याम सिंह, जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ0 अजय मोहन आदि उपस्थित थे।



      मुख्य चिकित्सा अधीक्षक जिला महिला चिकित्सालय अयोध्या  एस. के. शुक्ला ने सम्भावित कोविड गर्भवती महिला कोमल सिंह पत्नी महेश सिंह निवासी-सनेथू पोस्ट-पूराकलन्दर के प्रसव के बारे में बताया  कि  दिनांक 03 मई 2020 को गर्भवती महिला श्रीमती कोमल सिंह पत्नी महेश सिंह निवासी-सनेथू पोस्ट-पूराकलन्दर को अपर निदेशक महोदय के निर्देशों के अनुपालन में सुलतानपुर से रिफर कर जिला महिला चिकित्सालय अयोध्या में भर्ती किया गया। जिसका आज आज दिनाँक 04 मई 2020 को  जिला महिला चिकित्सालय अयोध्या की कोविड ओ0टी0 में जिला महिला चिकित्सालय की कोविड हेतू बनी टीम -डा0 रजना खरे, डा०श्वेता सुमन, डा0 विकास अग्रवाल, प्रीति वर्मा, अर्चना वर्मा, एवं स्नेहलता स्टॉफनर्सो एवं श्रीमती किरन पाण्डेय,वार्ड आया एवं श्रीमती विमला देवी,स्वीपरेस द्वारा प्रसूता को लेवर पैन होने पर सीजेरियन आपरेशन किया गया, जिससे अपरान्ह 01 बज कर 27 मिनट पर लड़की पैदा हुई जिसका वजन 3.8 किलोग्राम है।उन्होंने बताया कि जच्चा एवं बच्चा दोनों स्वस्थ है।


     सीएमएस महिला चिकित्सालय ने बताया कि उक्त महिला का कोविड-19 के सभी प्रोटोकॉल्स का अनुपालन करते हुए सफल सिजेरियन डिलीवरी किया गया, यह महिला थायराइड की बीमारी से भी ग्रसित थी। उन्होंने बताया कि प्रदेश का यह प्रथम कोविड-19 से ग्रसित महिला की सफल सिजेरियन डिलीवरी है। जिलाधिकारी श्री अनुज कुमार झा व मुख्य शिक्षा अधिकारी श्री घनश्याम सिंह द्वारा महिला की सफल डिलीवरी पर जिला महिला चिकित्सालय के कोविड ओ0टी0 टीम की सराहना की है।