लॉकडाउन के दौरान 'रामलला' को मिला करोड़ों रुपये का दान


            अयोध्या,  उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से बचाव और लॉकडाउन के बीच रामभक्त अयोध्या में भव्य मंदिर निर्माण के लिए अब तक 4.60 करोड़ रुपये दान कर चुके है. यह धनराशि राम मंदिर निर्माण के गठित राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के दो अलग-अलग खातों में जमा हुई है. राम मंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास का कहना है कि पैसे की कमी के चलते राम मंदिर निर्माण में कोई बाधा ना उत्पन्न हो और भव्य और दिव्य गगनचुंबी राम मंदिर का निर्माण हो यही भक्तो की कामना है. इसीलिए वह दान दे रहे है. उन्होंने बताया कि राम मंदिर निर्माण के लिए लगातार भक्त दान दे रहे हैं और इसके लिए मैं सभी दानदाताओं का धन्यवाद देता हूं.


भारतीय स्टेट बैंक में राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का दान खाता खोल दिया गया था. ट्रस्ट के महामंत्री के मुताबिक रामनवमी के दिन हमने उन खातों को ओपन किया गया था.


      ट्रस्ट के सदस्यों ने दान के लिए नेट बैंक‍िंग की शुरुआत की थी. इसके बाद इस खाते में लोगों ने ई बैंक‍िंग के जरिए दान देना शुरू किया था. मात्र चंद दिन में ही लाखों रुपये जमा हो गए थे. अधिकतर राम मंदिर निर्माण के लिए दी जाने वाली रकम ऑनलाइन जमा कर रहे हैं. कुछ रकम डिजिटल मोड में यूपीआई प्रणाली से स्थानांतरित की गई है. नेट बैंक‍िंग, आरटीजीएस टूल का प्रयोग भी धनराशि भेजने में किया जा रहा है. अब तक देश के कोने-कोने से तकरीबन 5 हजार लोगों ने ट्रस्ट के खाते में पैसा स्थानांतरित किया है.


      भारतीय स्टेट बैंक में राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का दान खाता खोल दिया गया था. ट्रस्ट के महामंत्री के मुताबिक रामनवमी के दिन हमने उन खातों को ओपन किया गया था. उन्होंने बताया कि रामभक्त सेविंग खाता संख्या 39161495808 और करेंट खाता संख्या 39161498809 में अपने मन मुताबिक दान कर सकते हैं.