लॉकडाउन के तीसरे चरण में निम्नलिखित गतिविधियां रहेंगी निषिद्ध-जिलाधिकारी

                   


जिलाधिकारी डॉक्टर उज्जवल कुमार ने बताया की तीसरे चरण के लॉकडाउन 17 मई तक निम्नलिखित  गतिविधियां निषिद्ध रहेंगी।


      अंतर्राज्यीय/अंतर्जनपदीय बस परिवहन, शिवाय शासन द्वारा अधिकृत परिवहन को छोड़कर।
 समस्त स्कूल-कॉलेज शैक्षिक/ प्रशिक्षण/ कोचिंग संस्थान, सिवाय ऑनलाइन को छोड़कर।
 सत्कार सिवाय उनके जो स्वास्थ्य कर्मियों, पुलिस, अधिकारियों हेतु उपयोग लाई जा रही हो अथवा लॉकडाउन के कारण फंसे टूरिस्ट अथवा क्वॉरेंटाइन करने के उपयोग में लाई जा रही हो।
 शॉपिंग मॉल, जिम, खेल परिसर, तरणताल, मनोरंजन पार्क, बार एवं सभागार, असेंबली हॉल और समस्त सामाजिक/ राजनीतिक/ खेल/ मनोरंजन /शैक्षिक /सांस्कृतिक/ धार्मिक कार्यक्रम/ अन्य सामूहिक गतिविधियां।
 समस्त धार्मिक स्थल/ पूजा स्थल जन सम्मान हेतु बंद रहेंगे । धार्मिक जुलूस आदि पूर्णतया निषिद्ध रहेंगे।
 65 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति, बीमारियों से ग्रसित व्यक्ति, गर्भवती  स्त्रियां, 10 वर्ष की आयु से नीचे बच्चे घरों के अंदर ही रहेंगे, सिवाय स्वास्थ्य परीक्षण हेतु बाहर जाने को छोड़कर।
 चार पहिया वाहनों में वाहन चालक सहित तीन व्यक्ति जिन्हें परिचालन हेतु अनुमति प्रदान की गई हो ।
इसके साथ ही निम्नलिखित नियमों का अनुपालन करना होगा। सार्वजनिक स्थानों पर फेसकवर/ मास्क लगाना अनिवार्य होगा। सामाजिक दूरी का कड़ाई से पालन करना होगा ।
सार्वजनिक स्थलों पर एक साथ 5 से अधिक लोग इकट्ठा ना हो।
 विवाह संबंधी आयोजन में सामाजिक दूरी का अनुपालन किया जाएगा तथा 20 से अधिक व्यक्तियों को इकट्ठा होने की अनुमति नहीं होगी। इस हेतु पूर्व में अनुमति लेना अनिवार्य होगा ।
अंतिम संस्कार में सामाजिक दूरी का अनुपालन किया जाएगा तथा 20 से अधिक लोगों के इकट्ठा होने की अनुमति नहीं होगी ।


जिलाधिकारी ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान ज्वेलरी की दुकानें भी बंद रहेंगी
सार्वजनिक स्थानों पर थूकना जुर्माने के साथ दंडनीय होगा ।
सार्वजनिक स्थानों पर मदिरापान  निषिद्ध होगा तथा दुकानों पर 2 गज की दूरी का अनुपालन करते हुए 5 से अधिक व्यक्तियों के इकट्ठा होने की अनुमति नहीं होगी।
 कार्य स्थलों पर सामाजिक दूरी के अनुपालन के साथ ही फेसकवर/ मास्क लगाना अनिवार्य होगा ।
जन प्रसाधन का नियमित सैनिटाइजेशन किया जाएगा।
 समुचित साफ-सफाई एवं स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जाएगा ।
लॉकडाउन के दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने पर आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा 188 के अंतर्गत कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।