लॉकडाउन में घर बैठे बैंक खाते से निकालें पैसे- जिलाधिकारी


लॉकडाउन में घर से निकलने की जरूरत नहीं, डाकिया के माध्यम से घर बैठे अपने बैंक खाते से निकालें पैसे,प्रधानमंत्री जनधन योजना का पैसा 4 मई से डाकिया द्वारा निकासी शुरू। 


           एक दिन में 10 हजार रुपये तक तक की राशि निकालने की सुविधा, कोई अतिरिक्त चार्ज नहीं।
जिलाधिकारी ने जानकारी दिया कि केन्द्र सरकार द्वारा लाभार्थियों के खाते में प्रधानमंत्री जनधन योजना का रू0 500-500/- भेजा गया है। उन्होंने कहा कि जिन लाभार्थियों के खाते की आखिरी संख्या 0 व 1 है, वे 4 मई को, जिनके खाते की आखिरी संख्या 2 व 3 हो, वे 5 मई  को, जिनके खाते की आखिरी संख्या 4 व  5 है, वे 6 मई को, जिनके खाते की आखिरी संख्या 6 व 7 वे 8 मई को तथा जिनके खाते की आखिरी संख्या 8 व 9 है, वेे 11 मई से डाकिया द्वारा आये हुए पैसे को निकासी कर सकतें है।



     जिलाधिकारी ने बताया कि यदि आपका किसी बैंक में खाता है और आप कोविड 19 के कोरोना महामारी के लॉकडाउन के चलते वहाँ पैसे निकालने के लिए नहीं जा पा रहे हैं तो निराश होने की जरूरत नहीं है। अब आप घर बैठे अपने इलाके के डाकिया के माध्यम से अपने बैंक खाते से पैसे निकालें । जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने बताया कि केंद्र सरकार और राज्य सरकार विभिन्न योजनाओं में डीबीटी के तहत इस समय लोगों के खातों में राशि जमा कर रही है। पर लॉकडाउन  के चलते तमाम लोग  इसे बैंक या एटीएम जाकर तुरंत निकालने की स्थिति में नहीं हैं।  



        ऐसे में डाकिया के माध्यम से श्आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टमश् द्वारा पैसे निकलने से लोगों को काफी सहूलियत होगी। साथ ही यह भी बताया कि इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के माध्यम से  विभिन्न सरकारी योजनाओं में सहायता राशि लाभार्थियों को उनके घर पर प्रदान की जा रही है, जिनमें  प्रमुख रूप से निक्षय भारत योजना के अंतर्गत टी.बी के मरीज, प्रधान मंत्री मातृत्व वंदन योजना के अंतर्गत गर्भवती महिलाओं, दिव्यांग पेंशन योजना, वृद्धावस्था योजना, किसान सम्मान निधि  के लाभार्थी शामिल हैं।  इन लाभार्थियों को जिनको पहले बैंक में या एटीएम में  देर तक लाइन लगाकर लेनदेन करना पड़ता था अब उनके आधार के माध्यम से खाता खोलने के साथ जमा निकासी की सुविधा भी डाकिये द्वारा उनके घर पर प्रदान की जा रही है।आईपीपीबी न सिर्फ अपने खातों से बल्कि अन्य बैंको के आधार लिंक्ड खातों से भी ग्राहकों को धनराशि आहरित करने की सुविधा प्रदान कर रहा है।  अपर जिलाधिकारी नगर वैभव शर्मा ने बताया कि डाक विभाग को इस कार्य को सुचारू रूप से करने के लिए मास्क, सेन्टाइजर तथा नगदी व्यवस्था के लिए वाहन भी उपलब्ध कराया गया है और जनपद के सभी ग्राम प्रधानों को सोशल डिस्टेंस के तहत भुगतान करवाने के लिए अपील भी किया गया है ।



     दूसरी ओर डाक विभाग के द्वारा अवगत कराया गया कि लॉक डाउन में अयोध्या स्थित प्रसिद्ध हनुमानगढ़ी मंदिर परिसर में साधु-संतों को श्आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टमश् के माध्यम से गोलाघाट, अयोध्या के ब्रांच पोस्टमास्टर श्री प्रवेश यादव ने संकट मोचक सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री श्री संजय दास सहित दर्जनों साधु संत का पैसा उनके बैंक खातों से राशि निकाल कर दी। डाकघर की इस पहल को सभी ने सराहा और इस अनूठी सुविधा के लिए डाक विभाग के साथ-साथ माननीय प्रधानमंत्री व  माननीय संचार मंत्री का भी आभार व्यक्त किया। इसके साथ ही अयोध्या में बाबरी मस्जिद के पक्षकार रहे, इकबाल अंसारी को जब एटीएम होते हुए भी पैसे निकालने में समस्या हुई तो उन्होंने इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक की । सेवा के माध्यम से अपने बैंक खाते से पैसे निकाले तथा की सेवा से प्रभावित होकर तुरंत प्च्च्ठ का खाता भी खुलवाया। गोलाघाट, अयोध्या के शाखा डाकपाल प्रवेश यादव ने उनके घर पर पहुँचकर खाता खोला। श्री अंसारी इससे काफी खुश हुए और पवित्र रमजान माह में घर बैठे यह सुविधा उपलब्ध कराने हेतु माननीय प्रधानमंत्री जी, माननीय संचार मंत्री और डाक विभाग का शुक्रिया अदा किया। डाक विभाग ने जानकारी दिया कि माइक्रो ए टी एम से अब तक अयोध्या जनपद में 19000 से अधिक लोगों को 2.64 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है ।