लॉकडाउन में कांग्रेस बनी जनता की आवाज- प्रियंका गांधी
             

          लॉकडाउन में कांग्रेस बन रही जनता की आवाज, सशक्त विपक्ष के रुप मे निभा रही है भूमिका।

    लखनऊ, कोरोना महामारी के चलते घोषित हुये लॉकडाउन में एक तरफ जहाँ अर्थव्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित हुयी, दूसरी तरफ आम जनता, मजदूरों को भयानक परेशानियों का सामना करना पड़ा है। ऐसे समय मे कांग्रेस जनता की आवाज बनी और एक सशक्त विपक्ष की भूमिका निभा रही है।


     कांग्रेस ने प्रवासी मजदूरो को वापस लाने के सबसे पहले आवाज उठायी और प्रदेश सरकार को मजदूरों को आ रही समस्याओ से अवगत कराया। प्रदेश सरकार ने इस पर अमल किया जिसका कांग्रेस ने स्वागत किया।


     राष्ट्रीय महासचिव व प्रभारी उत्तर प्रदेश प्रियंका गांधी जी की देखरेख में कोरोना फाइटर्स का ग्रुप बनाया गया, जिसमें प्रदेश के सभी पदाधिकारी, राष्ट्रीय सचिव, जिला अध्यक्ष सम्मिलित है। लखनऊ में कंट्रोल रूम बनाया गया और हेल्पलाइन नंबर जारी किया। साथ ही हर जिले में एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया जिससे जरूरतमंद लोगों की मदद की जा रही है।


     जो प्रवासी मजदूर महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, केरल आदि राज्यो में, यहां तक कि लेह, लद्दाख में भी फंसे हुए हैं, कांग्रेसियों ने मदद किया। अभी तक 500000 लोगों को प्रदेश के अंदर और अन्यत्र मदद की गई।


अभी तक 14 जगह साझी रसोई शुरू की गयी है।

 

    प्रत्येक जिले में कंट्रोल रूम तैयार किया गया है जिसके माध्यम से जरूरतमंद लोगों और मजदूरों की लगातार मदद की जा रही। है।

  प्रियंका गांधी जी ने लखनऊ, बांदा और जौनपुर में राहत सामग्री पहुंचायी। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष व सांसद श्री राहुल गांधी जी ने अमेठी के लिये कई ट्रक राहत सामग्री भेजी है।


   प्रदेश कार्यलय में साझी रसोई चल रही है जिसकी देख-रेख खुद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कर रहे हंै। अभी तक प्रदेश में 14 से अधिक साझी रसोई चलाई जा रही है जिनसे हजारों लोगों को खाना पहंुचाया जा रहा है।


     प्रियंका गांधी जी ने लॉकडाउन से प्रभावित लोगों के आने-जाने के लिये सुचारू परिवहन व्यवस्थाएं, राहत सामग्री उपलब्ध कराने, एयरटेल, आइडिया, वोडाफोन और बीएसएनएल द्वारा एक महीने के लिए निःशुल्क इनकमिंग-आउटगोइंग व्यवस्था कराने, कोरोना वायरस ग्रस्त मरीजो ले लिये प्राइवेट अस्पताल तथा होटल के कमरों को आइसोलेशन वार्ड बनाये जाने, मठों, आश्रमों, इदारों, धार्मिक संस्थानों को मानव सेवा के लिये अपील, डॉक्टरों, टेक्नीशियन, नर्सांे तथा सफाईकर्मियों को पीपीई किट उपलब्ध कराने, बाँदा में निकाली गई मेडिकल नर्सांे को वापस लिये जाने, राशन कार्ड धारकों और गैर राशन कार्ड वालों को अगले 6 महीनों तक मुफ्त राशन, एमबीबीएस इंटर्न डॉक्टरों को उचित मानदेय देने के लिये पत्र लिखकर सुझाव दिये।
कोरोना महामारी में महिलाओं द्वारा मास्क बनाने पर उन्हें व्यक्तिगत पत्र लिखकर उत्साह वर्धन किया।


    इसी तरह से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू जी ने किसानों को भारी बारिश, ओला वृष्टि से हुये नुकसान पर विशेष राहत पैकेज, किसानों का बिजली बिल अगले तीन महीने तक माफ करने, वकीलों तथा अन्य कामगार वर्गों के लिये विशेष सहायता देने के लिये पत्र लिखकर सुझाव दिये। अपने विधान सभा क्षेत्र तमकुहीराज में कंट्रोल रूम बनाकर हजारों मजदूरों और जरूरतमंद लोगों को मदद किया और राहत सामग्री का वितरण किया।


    कांग्रेस द्वारा की जा रही जन.सेवा को आम जन-मानस का समर्थन भी मिला है। संकट के समय जन-सेवा करना ही राष्ट्रधर्म है। कांग्रेस इस कर्तव्य को पूरी क्षमता से निभा रही है।