मस्जिदों में नहीं हुई अलविदा जुमा की नमाज़,पसरा रहा सन्नाटा


         - अब्दुल जब्बार 


      भेलसर(अयोध्या)रमजान मुबारक के आखिरी जुमा में अलविदा की नमाज के साथ ही शुक्रवार को माहे मुबारक के रुखसत होने का एलान भी हो गया।लॉकडाउन की वजह से यह पहला मौका है जब अलविदा जुमे की नमाज रोजेदारो ने मस्जिदों के बजाय घरों में अदा की।एहतियात के तौर पर मस्जिदों के पास पुलिस की तैनाती रही।


    रूदौली क्षेत्र के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र में कही भी अलविदा जुमा की नमाज़ मस्जिदों में मुस्लिम समुदाय के लोगो ने नही अदा की।लोगो ने अपने अपने घरों में नमाज़ अदा करके देश की खुशहाली व एकता तथा कोरोना वायरस से महफूज़ रखने के लिए दुआएं की।बतादें की प्रशासन व मुस्लिम उलेमाओ ने मुस्लिम समाज के लोगों से कोरोना वायरस से बचाव व लॉकडाउन के पालन के लिए अलविदा जुमे की नमाज मस्जिदों के बजाय घरों में अदा करने की अपील की थी।मुस्लिम समुदाय के लोगो ने प्रशासन व मुस्लिम उलेमाओ की अपील पर अलविदा जुमा की नमाज़ के लिए मस्जिदों से दूर रहे सभी ने नमाज़े अपने अपने घरों में अदा की।मस्जिदों में पेश इमाम,मुअज़्ज़िन सहित 4 लोग से अधिक नही रहे।इस मौके पर प्रशासन सतर्क रहा एसड़ीएम विपिन कुमार सिंह,क्षेत्राधिकारी निपुण अग्रवाल,कोतवाल विश्वनाथ यादव,वरिष्ठ उपनिरीक्षक शमशाद अली,चौकी इंचार्ज किला संतोष त्रिपाठी,नयागंज इंचार्ज रविश कुमार,भेलसर चौकी इंचार्ज राम चेत यादव,सुजगंज चौकी इंचार्ज सुधाकर यादव सहित तमाम पुलिस बल क्षेत्र में भर्मण कर मस्जिदों की निगरानी में लगे रहे।