राज्य में प्रवासियों को पैदल न आने दिया जाये
             

        कोविड-19 से बचाव एवं संक्रमण को फैलने से रोकने के लिये अन्य प्रदेशों से आ रहे प्रवासी व्यक्तियों के लिये रेलवे स्टेशन व बस स्टेशन पर चिकित्सा टीम, सुरक्षा एवं पेयजल सहित आवश्यक सभी व्यवस्थायें सुनिश्चित की जायें।
इन व्यक्तियों की जांच एवं क्वारंटाइन आदि किये जाने के सम्बन्ध में स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्गत विस्तृत निर्देशों का पालन सुनिश्चित किया जाये।जिलाधिकारी समय-समय पर निरीक्षण कर समस्त क्वारंटाइन्स होम्स,निराश्रित गृहों एवं कम्युनिटी किचन में पूर्ण स्वच्छता तथा भोजन आदि की उच्च स्तरीय गुणवत्ता सुनिश्चित करायें।अन्य राज्यों में प्रवासियों को पैदल न आने दिया जाये तथा यदि कोई प्रवासी पैदल आते हुये पाया जाता है, तो उसे आवश्यक जांच के उपरान्त क्वारंटाइन में रखा जाये।सब्जी आदि की मण्डियां में खुले क्षेत्र में लगायी जायें तथा सोशल डिस्टेन्सिंग का पूर्ण रूप से पालन हो एवं इन्हें पूरे दिन में 10 से 12 घण्टे तक खोला जाये।समस्त व्यक्तियों को ‘आरोग्य सेतु’ एप को डाउनलोड करने के लिये सभी को प्रेरित किया जाये तथा इस हेतु डेडिकेटेड टीम का गठन किया जाये।

    लखनऊ, उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव  ने निर्देश दिये हैं कि कोविड-19 से बचाव एवं संक्रमण को फैलने से रोकने के लिये अन्य प्रदेशों से आ रहे प्रवासी (माइग्रेण्ट) व्यक्तियों के लिये रेलवे स्टेशन व बस स्टेशन पर चिकित्सा टीम, सुरक्षा एवं पेयजल सहित आवश्यक सभी व्यवस्थायें सुनिश्चित की जायें। आवश्यक जानकारी देने हेतु पब्लिक एड्रेस सिस्टम की भी व्यवस्था की जाये। इन व्यक्तियों की जांच एवं क्वारंटाइन आदि किये जाने के सम्बन्ध में स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्गत विस्तृत निर्देशों का पालन सुनिश्चित किया जाये।


      मुख्य सचिव ने यह निर्देश समस्त मण्डलायुक्तों, जिलाधिकारियों एवं वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को उच्च स्तरीय समीक्षा के उपरान्त परिपत्र निर्गत कर दिये हैं। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी समय-समय पर निरीक्षण कर समस्त क्वारंटाइन्स होम्स, निराश्रित गृहों एवं कम्युनिटी किचन में पूर्ण स्वच्छता तथा भोजन आदि की उच्च स्तरीय गुणवत्ता सुनिश्चित करायें। इस सम्बन्ध में पर्याप्त धनराशि जिलों को शासन द्वारा उपलब्ध करायी जा चुकी है।


      मुख्य सचिव  ने कहा कि अन्य राज्यों में प्रवासियों को पैदल न आने दिया जाये तथा यदि कोई प्रवासी पैदल आते हुये पाया जाता है, तो उसे आवश्यक जांच के उपरान्त क्वारंटाइन में रखा जाये। सब्जी आदि की मण्डियां में खुले क्षेत्र में लगायी जायें तथा सोशल डिस्टेन्सिंग का पूर्ण रूप से पालन हो एवं इन्हें पूरे दिन में 10 से 12 घण्टे तक खोला जाये।


     मुख्य सचिव ने कहा कि समस्त व्यक्तियों को ‘आरोग्य सेतु’ एप को डाउनलोड करने के लिये सभी को प्रेरित किया जाये तथा इस हेतु समर्पित (डेडिकेटेड) टीम का गठन किया जाये। राशन की दुकानों पर ई-पाॅस मशीन निरन्तर क्रियाशील रहे। गौ-संरक्षण केन्द्रों पर आवश्यक भूसा आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये।