सरकार ‘आरोग्य सेतु’ का उपयोग कर्ता को मुफ्त दे काढ़ा: अखिलेश यादव










    समाजवादी पार्टी (सपा) मुखिया अखिलेश यादव ने सोमवार को कहा कि कोरोना वायरस से बचने के लिए काढ़ा अगर वैज्ञानिक रूप से सिद्ध उपाय है तो सरकार को इसकी मुफ्त आपूर्ति करनी चाहिए।


      अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, ''आयुष मंत्रालय की तरफ़ से टीवी पर दिखा रहे हैं कि कोरोना वायरस से बचने के लिए काढ़े व च्यवनप्राश का सेवन करना चाहिए।'' उन्होंने कहा, ''यदि ये वैज्ञानिक रूप से सिद्ध उपाय हैं तो संकटकाल में सरकार इनकी मुफ़्त आपूर्ति करे।'' यादव ने कहा कि 'आरोग्य सेतु का उपयोग करने पर ये पुरस्कार स्वरूप दिये जाएं तो लोग प्रोत्साहित होंगे।


      देश में कोरोनावायरस  के मामलों ने  नया रिकॉर्ड बनाया है,एक दिन में अब तक के सबसे ज्यादा कोरोना (COVID-19) केस सामने आए हैं। पिछले 24 घंटों में 6,977 मामले सामने आए हैं और 154 लोगों की मौत हुई है. आयुष मंत्रालय कोरोना से बचाव के तमाम देसी उपाय बता रहा है। इन्हीं तरीकों को लेकर अब समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है, उन्होंने ट्वीट कर सरकार से मांग की है कि आयुष मंत्रालय के मुताबिक अगर काढ़े व च्यवनप्राश का सेवन कोरोना से बचाता है तो सरकार इसे मुफ्त बांटे।


    देश में कोरोना के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के मामलों ने रिकॉर्ड तोड़ दिया है। बीते एक दिन में कोरोना के 6,977 मामले सामने आए हैं और 154 लोगों की मौत हुई है। भारत में कुल संक्रमितों की संख्या 1,38,845 हो गई है।57,721 मरीज ठीक हो चुके हैं. अब तक 4,021 लोगों की मौत हुई है. रिकवरी रेट 41.57 प्रतिशत है।


    पीएम मोदी जी ने 24 मार्च को कोरोना से बचाव के चलते ही देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की थी, जिसके बाद 14 अप्रैल को पीएम ने एक बार फिर देश की जनता को संबोधित करते हुए 19 दिनों के लिए लॉकडाउन को आगे बढ़ाए जाने की जानकारी दी। 3 मई को यह मियाद खत्म होनी थी लेकिन इससे पहले ही गृह मंत्रालय ने दो हफ्तों के लिए लॉकडाउन को और बढ़ा दिया। 17 मई तक यह लागू था, 17 मई की देर शाम केंद्र सरकार ने इसे दो हफ्ते और बढ़ाने का फैसला किया, अब देश में लॉकडाउन 31 मई तक लागू रहेगा।


मंत्रालय ने प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के दिए हैं कई सुझाव:



     गौरतलब है कि कोविड-19 से लड़ने के लिए हर स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं। मोदी सरकार के आयुष मंत्रालय ने भी कोरोना वायरस से बचने के लिए लोगों को सलाह दी हैं। मंत्रालय ने कोविड-19 से बचने और स्वयं की देखभाल व रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए कुछ आयुर्वेदिक उपाय बताए हैं। इनमें कहा गया है कि आयुर्वेद  का इस्‍तेमाल करके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाया जा सकता है।

‘आरोग्य सेतु’ का उपयोग करने वालों को मुफ्त मिले काढ़ा :



      मंत्रालय के कई सुझावों में से ही एक महत्त्वपूर्ण सुझाव हर्बल चाय अथवा काढ़े के सेवन से जुड़ा है। आयुष मंत्रालय ने कहा है कि तुलसी, दालचीनी, काली मिर्च, सूखी अदरक और मुनक्‍का डालकर काढ़ा बनाया जा सकता है। इसे दिन में दो बार बनाकर पीने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है, इस काढ़े में चीनी और नींबू भी डाले जा सकते हैं। अखिलेश यादव ने अपने ट्वीट में सरकार से आयुष मंत्रालय द्वारा बताये गए काढ़े की मुफ्त आपूर्ति लोगों तक कराने की बात कही है, उन्होंने यह भी सुझाव दिया है कि ‘आरोग्य सेतु’ का उपयोग करने पर काढ़ा पुरस्कार स्वरूप दिया जाए जिससे लोग प्रोत्साहित होंगे।