उत्तर प्रदेश में 14 लाख से अधिक प्रवासी कामगार/श्रमिक आए


उत्तर प्रदेश सरकार कोरोना संकट के समय अपने प्रवासी कामगार/श्रमिकों की सकुशल एवं सम्मानजनक वापसी पूरी प्रतिबद्धता से कर रही है।
भारत सरकार के सहयोग से 14 लाख से अधिक प्रवासी कामगार/श्रमिक उत्तर प्रदेश में आए।
प्रदेश सरकार ने 12 हजार उ0प्र0 परिवहन निगम की बसों को तथा प्रत्येक जनपद में जिलाधिकारी के प्रवर्तन पर 200 बसें अतिरिक्त प्रवासी कामगार/श्रमिकों की सेवा में लगायीं।
वैश्विक महामारी के समय में कांग्रेस पार्टी द्वारा की जा रही नकारात्मक एवं ओछी राजनीति की निन्दा होनी चाहिए।


      लखनऊ 17 मई, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि उत्तर प्रदेश सरकार कोरोना संकट के समय अपने प्रवासी कामगार/श्रमिकों की सकुशल एवं सम्मानजनक वापसी पूरी प्रतिबद्धता से कर रही है। अब तक भारत सरकार के सहयोग से 14 लाख से अधिक प्रवासी कामगार/श्रमिक उत्तर प्रदेश में आए हैं। प्रदेश सरकार ने 12 हजार उ0प्र0 परिवहन निगम की बसों को तथा प्रत्येक जनपद में जिलाधिकारी के प्रवर्तन पर 200 बसें अतिरिक्त प्रवासी कामगार/श्रमिकों की सेवा में लगायी हैं।


  योगी ने कहा कि राजस्थान/पंजाब अथवा जो भी राज्य सरकार प्रवासी कामगार/श्रमिकों की सूची उ0प्र0 शासन को उपलब्ध करवा रही है, उस राज्य से उनकी सुरक्षित एवं सम्मानजनक वापसी के लिए श्रमिक एक्सप्रेस तथा अन्य सुरक्षित साधन लगाए गए हैं।


      कोरोना संकट में अगर कोई संस्था अथवा दल सहयोग देने में रुचि लेना चाहता है तथा प्रदेश सरकार को सूची (प्रवासी श्रमिक एवं साधनों की) भेजेगा, तो उन्हें अवश्य अनुमति मिलेगी, उसका स्वागत भी होगा।
इस वैश्विक महामारी के समय में कांग्रेस पार्टी द्वारा की जा रही नकारात्मक एवं ओछी राजनीति की निन्दा होनी चाहिए। औरैया में प्रवासी श्रमिकों की मौत के लिए जिम्मेदार एक ट्रक पंजाब से तथा दूसरा राजस्थान से आया था।