उत्तर प्रदेश पुलिस ने पेश कि "ईमानदारी की मिसाल"


     उत्तर प्रदेश पुलिस अक्सर अपनी विवादित छवि के कारण सुर्खियों में रहती है मगर इसी बीच एक ऐसी खबर पुलिस चौकी  शाहमहोली  नगर कोतवाली सीतापुर से आई है जो हमें अपने पुलिस पर गर्व के भाव से भर देती है।यह ताजा मामला सीतापुर क्षेत्र का है जहां पर पुलिसकर्मी उग्रसेन यादव ने ईमानदारी की मिसाल पेश की है।अक्सर जब हम पुलिस की बात करते हैं तो हमारे मन में अजीव तरह के सवाल जन्म लेता है। पुलिस ने यहां गलत किया वहां गलत किया होगा। हमारी पुलिस जब कई जगह उत्कृष्ट कार्य करती है तो लोग उसको ध्यान में नहीं रखते हैं लोग अक्सर भूल जाते है ,जबकि पुलिस की इस भूमिका को भी ध्यान में रखना चाहिए की पुलिस हमारे लिए अपना घर परिवार छोड़कर बहुत कुछ करती है।


    कोविड 19 ,करोना कि इस महामारी में पुलिस का अहम योगदान है। पुलिस के अथक प्रयास ,सराहनीय कार्य से यह महामारी भारत में हद तक रुकी हुई है। इसी बीच लखीमपुर से एक किसान कन्नौज अपना आलू पहुंचाने जा रहे थे जिसकी गाड़ी का नंबर यूपी 34 ए टी 0993 है, इनका रास्ते में गाड़ी से एक्सीडेंट हो गया जिससे मोहम्मद रिहान की मौत हो गई।पुलिस ने तत्काल उन्हें जिला अस्पताल पहुंचाया गया लेकिन रास्ते में ले जाते समय ही उनकी मौत हो गई। उससे पहले की घटना पर  ध्यान दिया गया तो पता चला कि किस सिपाही उग्रसेन यादव मौके पर पहुंचकर घायल को अस्पताल पहुंचाए और जब उन्होंने गाड़ी की तलाशी ली  तो गाड़ी में से ₹62800 उग्रसेन सिपाही को प्राप्त हुए। प्राप्त रकम उन्होंने अपने कब्जे में लिया और अपने संबंधित अधिकारी को सूचित कर मृतक के भाई को पैसा वापस किया मृतक के भाई भाऊक होकर बोले की आपजैसा ईमानदार सिपाही देश के हर कोने कोने में होना चाहिए जिससे लोगों को सही न्याय मिले और इनके संबंधित अधिकारि यों ने भी सिपाही उग्रसेन  के कार्यों की सराहना की।  ऐसी खबरें सुनकर और देख कर ऐसा लगता है कि समाज में इसी तरीके के लोग होने चाहिए और सरकारी अधिकारी कर्मचारी से इसी तरीके के कार्य को जनता पसंद करती है


      उत्तर प्रदेश पुलिस की यह  मिसाल बहुत बड़ी सराहनीय पहल हैयह लिखने में जितना आसान है शायद प्रैक्टिकल में इतना मुश्किल हैउत्तर प्रदेश पुलिस के इस  संघर्षी इमानदार सिपाही की तारीफ पूरे इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ हैऐसी खबरें आने में कहीं ना कहीं समाज के लोगों का हौसला बढा  जाती है, और लोगों में पुलिस को लेकर एक अच्छी छवि बनाने में कामयाब होती हैउग्रसेन यादव जैसे ईमानदार पुलिस कर्मी की जरूरत आज हर एक पीड़ित कमजोर समाज से दूर रहने वाले व्यक्तियों व आम लोगों को काफी आवश्यकता रहती है और यह लोगों को ताकत भी देती है