विदेश से आने वाले को 07 दिनों तक क्वारेन्टाइन मेंं रखा जाये-जिलाधिकारी


जिलाधिकारी ने टीम-11 के अधिकारियों के साथ की बैठक दिये आवश्यक दिशा निर्देश,विदेश से आने वाले 08 प्रवासी लोगों को शासनादेश के अनुरूप संस्थागत क्वारेन्टाइन मेंं 07 दिनों तक रखा जाये-जिलाधिकारी, अस्पताल में पीपीइ किट उपयोग के बाद बाहर फेके जाने की शिकायत पर जिलाधिकारी ने लापरवाही बरतने वाले अधिकारी/कर्मचारी से स्पष्टीकरण प्राप्त कर कार्यवाही करने का दिया निर्देश।

     प्रतापगढ़, जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार की अध्यक्षता में आज कैम्प कार्यालय में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव, रोकथाम एवं आमजनमानस को आवश्यक सुविधाये सुनिश्चित करने हेतु गठित टीम-11 के साथ बैठक की गयी। बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी ने जनपद में अब तक 76 कोरोना पाजिटिव मरीज पाये गये है जिनमें से 42 मरीज ठीक हुये है, 03 की मृत्यु हो चुकी है और 31 मरीज एक्टिव है जिनका ईलाज अस्पताल में चल रहा है। जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी एवं मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि विदेश से आये हुये 06 आबूधाबी, 01 कुवैत एवं 01 मास्को से आने वाले यात्रियों का शासनादेश के अनुरूप सैम्पल लेने और उन्हें 07 दिन के लिये संस्थागत क्वारेन्टाइन में अनिवार्य रूप से रखा जाये।


        श्रम प्रर्वतन अधिकारी द्वारा बताया गया कि शासन के निर्देशानुसार आने वाले प्रवासी मजदूरों की स्किल मैपिंग की जा रही है, जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि शासन द्वारा दिये गये प्रारूप पर सभी सूचनायें सही-सही दर्ज की जाये ताकि उन्हें समुचित रोजगार दिलाने की व्यवस्था की जा सके। प्रवासी मजदूरों के राहत आयुक्त के वेबसाइट पर नियमित फीडिंग कराने की समीक्षा करने पर पाया गया कि सदर तहसील में 141 फीडिंग नही की गयी है जबकि शासन का स्पष्ट निर्देश है कि उसी दिन शत् प्रतिशत फीडिंग कर दी जाये, इस लापरवाही पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी सदर को निर्देशित किया कि फीडिंग में लापरवाही बरतने वाले अधिकारी/कर्मचारी का स्पष्टीकरण प्राप्त कर प्रस्तुत करें। जिलाधिकारी द्वारा कम्युनिटी किचेन की समीक्षा करते हुये निर्देश दिया गया कि शासन के निर्देशानुसार सभी कम्युनिटी किचेन के नोडल अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि भोजन की गुणवत्ता एवं मात्रा मानक के अनुसार रहे।


         जिलाधिकारी ने कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जारी आयुष कवच ऐप डाउनलोडिंग की समीक्षा करते हुये निर्देश दिया गया कि सभी सरकारी अधिकारी एवं कर्मचारी इस ऐप को डाउनलोड करें तथा मुख्य चिकित्साधिकारी एवं जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिया गया कि अपने ग्राम स्तरीय कर्मचारियों को ऐप डाउनलोड कराने का लक्ष्य निर्धारित करें तथा आमजनता को भी ऐप डाउनलोड करने हेतु प्रेरित एवं प्रशिक्षित करें। यह ऐप एनड्रायड फोन के गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है।


       जिलाधिकारी ने उप कृषि निदेशक से टिड्डी दल के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की तो बताया गया कि टिड्डी दल के जनपद प्रतापगढ़ तक आगमन की सम्भावना नही है अभी यह मथुरा, आगरा, सोनभद्र तक ही सीमित है। जिलाधिकारी ने उप कृषि निदेशक को निर्देशित किया कि जनपद में टिड्डी दल के आगमन पर सम्भावित नुकसान से बचाव हेतु समस्त तैयारियॉ पूर्ण कर ली जाये तथा किसानों को भी इससे बचाव के उपाय की समुचित जानकारी उपलब्ध करा दी जाये। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डा अमित पाल शर्मा, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) शत्रोहन वैश्य, मुख्य राजस्व अधिकारी श्रीराम यादव, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 अरविन्द कुमार श्रीवास्तव, जिला सूचना अधिकारी विजय कुमार सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।



     जिलाधिकारी ने आज कोविड-19 सम्बद्ध अस्पताल सन्त एन्थोनी इण्टर कालेज का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने सभी कक्षों में लगे बिजली, पंखा, बेड आदि व्यवस्थाओं को देखा तथा मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि पूरे परिसर को सेनेटाइज, साफ-सफाई व अन्य आवश्यक चिकित्सकीय उपकरण की व्यवस्था अविलम्ब उपलब्ध करायी जाये। अस्पताल हेतु ड्यिटीरत डाक्टर एवं पैरामेडिकल स्टाफ को प्रोटोकाल के अनुरूप पीपीइ किट, मास्क एवं अन्य आवश्यक सुविधायें उपलब्ध करायी जाये। 


   कल देर रात जिलाधिकारी द्वारा हास्पिटल के इमरजेन्सी वार्ड का निरीक्षण किया गया जिसमें गन्दगी एवं अव्यवस्था पाये गयी जिसके लिये मुख्य चिकित्साधिकारी को तत्काल व्यवस्था ठीक करने का निर्देश दिया गया। निरीक्षण के समय अस्पताल में दो पीपीइ किट उपयोग के बाद बाहर फेकी होने की शिकायत पर जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को जांच कर लापरवाही बरतने वाले कर्मचारी से स्पष्टीकरण प्राप्त कर उसके विरूद्ध विभागीय कार्यवाही करने एवं अवगत कराने का निर्देश दिया।