विषम परिस्थितियों में रंग ला रहा सोशल एक्टिविस्ट सुरेंद्र शर्मा का प्रयास

प्रधानमंत्री कार्यालय व हर एक प्रदेशों के मुख्यमंत्री कार्यालय से सीधे संवाद कर क्षेत्र के प्रवासी मजदूरों की करवा रहे मदद।


     - अब्दुल जब्बार ,नितेश सिंह 


      भेलसर(अयोध्या)कोरोना वायरस के चलते पूरे देश मे चल रहे व्यापक लॉकडाउन में अपनी आजीविका के लिए मजदूरी व नौकरी करने के उद्देश्य से प्रदेश से बाहर गए श्रमिकों को लिए लॉक डाउन घोषित होने के चलते विकट समस्याएं अचानक उत्पन हो गयी है। उनके पास उपलब्ध खाने पीने की चीजें तथा पैसे खत्म होने की कगार पर हो गए।जिससे उन्हें अपने सामने काफी दिक्कतें नजर आने लगी है।इस विषम परिस्थिति को देखते हुए लगभग 10,000 से अधिक श्रमिकों की मदद अब तक विधानसभा क्षेत्र रुदौली के ब्लॉक मवई के रतनपुर गाँव निवासी शोसल एक्टिविस्ट सुरेंद्र शर्मा ने प्रधानमंत्री कार्यालय तथा हर एक प्रदेशों के मुख्यमंत्री कार्यालय पर संवाद कर श्रमिकों की खाने-पीने से लेकर हर एक मदद पहुंचा रहे हैं।


   उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा अन्य प्रदेशों में फंसे प्रवासी मजदूरों को वापस लाने की मुहिम में उन्होंने विधानसभा रुदौली के लिये भरपूर सहयोग किया तथा एक एक क्षेत्रवासियों से सीधे संवाद कर उनकी समस्या जाना तथा उन्हे इस विषम परिस्थितियों में हौशला बढ़ाते हुए ढाढ़स भी बंधाया।विभिन्न राज्यों के कंट्रोल रूम पर तथा राज्य नोडल अधिकारी व जनपद के नोडल अधिकारियों तक अवगत करा रहे हैं।उनके प्रयास से क्षेत्र के काफी लोग आ भी चुके हैं आकर लोगों ने उन्हे आभार जताया और उन्हे कहा आप हम सबके लिये इस मुश्किल घड़ी में भगवान की तरह खड़े हुए है।वही श्री शर्मा जी का कहना हैं कि जिस प्रकार से रूदौली से तेज तर्रार व युवा पत्रकार नितेश सिंह नें रूदौली के साथ-साथ अन्य राज्यों में फंसे अयोध्या सुल्तानपुर बाराबंकी अमेठी के लोगों की वापसी सुनिश्चित किये जाने में जो सामाजिक सहयोग प्रदान किया हैं  उससे ये स्पष्ट होता है कि हमारी रूदौली में नितेश सिंह जैसे युवा भी हैं जो रूदौली ही नही वो हर क्षेत्र में अयोध्या से प्रदेश तक की दशा और दिशा तय कर सकतें हैं आज युवा बढ़ेगा प्रदेश बढ़ेगा।बाहर से लौट रहे प्रवासियों को प्रशासन की मदद से साकुशल क्वॉरेंटाइन भी किया जा रहा है।