बच्चों व पत्नी को खिलाया जहर,फंदा लगाकर कर ली खुदकुशी

       


  तीन बच्चों व पत्नी को खिलाया जहर, फिर शख्स ने फंदा लगाकर कर ली खुदकुशी; सुसाइड नोट में लिखी ये बात।


       बाराबंकी,  यूपी के बाराबंकी जिले से एक ही परिवार के पांच लोगों के शव घर से बरामद हुए है। मृतकों में माता-पिता व तीन बच्चे हैं। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर कार्रवाई शुरु कर दी है। सभी मृतकों के शव घर में पड़े मिले है। पुलिस ने प्राथमिक जांच में पिता द्वारा बच्चों व पत्नी की हत्या के बाद फांसी लगाए जाने का अंदेशा जताया है। मौके से एक सुसाइड नोट भी मिला है। जिसमें आर्थिक तंगी के चलते सुसाइड किए जाने की बात सामने आई है।  


     एक ही परिवार के 5 लोगों प्राप्त जानकारी के अनुसार, नगर कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत सफेदाबाद निवासी विवेक शुक्ला परिवार में पत्नी अनामिका, दो बेटियां पोयम (10 वर्ष), ऋतु (07 वर्ष) और बेटा बबलू (05 वर्ष) रहते थे। शुक्रवार सुबह काफी देर तक जब परिवार में कोई हलचल नहीं दिखी तो पड़ोसियों को अनहोनी की आशंका हुई। सूचना पाकर पुलिस पहुंची तो लोग घर के भीतर दाखिल हुए। लेकिन भीतर का नजारा देखकर सभी सन्न रह गए। विवेक का शव फांसी के फंदे से लटक रहा था। जबकि, अन्य बिस्तर पर मृत हालत में पड़े थे।शुरुआती जांच में पुलिस को ऐसा लग रहा है कि, बच्चों व पत्नी की जहर देकर हत्या करने के बाद पिता ने खुदकुशी की है। मौके से एक सुसाइड नोट मिला है।


    जिसमें विवेक ने लिखा है कि, आर्थिक तंगी के चलते उसने यह कदम उठाया है। वह अपने परिवार को कोई सुख नहीं दे पाया। फिलहाल पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई है।पुलिस इस मामले में सभी एंगल से जांच कर रही है। सुसाइड नोट की हैंड राइटिंग की भी जांच की जा रही है। रिश्तेदारों से भी पूछताछ की जा रही है।इससे पहले मुरादाबाद में तैनात सिपाही ने गुरुवार सुबह खुदकुशी की। परिजनों के मुताबिक, मृतक सिपाही मनीत प्रताप को एक युवती पिछले काफी समय से ब्लैकमेल कर परेशान कर रही थी। इसके चलते मनीत के साथ ये घटना हुई है। सिपाही की मौत की सूचना के बाद युवती भी मौके पर पहुंची थी जिसे पुलिस ने पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। परिजनों ने युवती और उसके एक साथी पर हत्या का आरोप लगाया। पुलिस अधिकारियों के अनुसार, ये पहले से रिलेशनशिप में था, जिसको लेकर दोनों परिवारों में विवाद था और मृतक तनाव में चल रहा था। खैर, पुलिस अधिकारी प्रथम दृष्ट्या इस घटना को आत्महत्या मान रहे हैं।