COVID-19,पुनरीक्षित समय-सारिणी तैयार कर अपेक्षित गति लायी जाये: मुख्य सचिव

कोविड-19 महामारी के कारण उत्पन्न हुये अवरोधों को दृष्टिगत रखते हुयेएक्सप्रेस-वेज के निर्माण कार्यों को निर्धारित अवधि में पूर्ण कराने हेतु कार्यदायी संस्थाओं के साथ।निर्माण स्थल पर श्रमिकों की उपलब्धता सुनिश्चित कराने हेतु प्रवासी श्रमिकों का।डाटा कार्यदायी संस्था को उपलब्ध करा दिया जाये।एक्सप्रेस-वे के निर्माण स्थल पर कार्य कर रहे श्रमिकों की प्रतिदिन फोटोग्राफ्स मंगाकर उनकी उपस्थिति की माॅनीटरिंग सुनिश्चित की जाये।बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे हेतु अवशेष भूमि का अधिग्रहण शीघ्र प्राप्त करने हेतु सम्बन्धित जिलाधिकारियों से अनुरोध कर लिया जाये।मुख्य सचिव ने पूर्वांन्चल एवं बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे के कार्यों की विस्तृत समीक्षा की।


   


लखनऊ,  मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने निर्देश दिये हैं कि कोविड-19 महामारी के कारण उत्पन्न हुये अवरोधों को दृष्टिगत रखते हुये पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण कार्यों को निर्धारित अवधि में पूर्ण कराने हेतु कार्यदायी संस्थाओं के साथ बैठक कर पुनरीक्षित (त्मअपेमक) समय-सारिणी तैयार कर निर्माण कार्यों में अपेक्षित गति लायी जाये। उन्होंने कहा कि निर्माण स्थल पर श्रमिकों की उपलब्धता सुनिश्चित कराने हेतु प्रवासी (माइग्रेंट) श्रमिकों का डाटा कार्यदायी संस्था को उपलब्ध करा दिया जाये, ताकि निर्माण कार्य में गति प्राप्त होने के साथ-साथ अधिक से अधिक प्रवासी श्रमिकों को उनकी योग्यतानुसार रोजगार उपलब्ध कराया जा सके।


      मुख्य सचिव ने यह निर्देश आज लोक भवन स्थित कार्यालय कक्ष के सभागार में पूर्वांन्चल एवं बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे के कार्यों की विस्तृत समीक्षा के दौरान दिये। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे पर दीर्घ सेतुओं का 50 प्रतिशत निर्माण कार्य माह जून, 2020 के अन्त तक पूर्ण कराने के प्रयास सुनिश्चित किये जायें। उन्होंने कहा कि एक्सप्रेस-वे के निर्माण स्थल पर कार्य कर रहे श्रमिकों की प्रतिदिन फोटोग्राफ्स मंगाकर उनकी उपस्थिति की माॅनीटरिंग सुनिश्चित की जाये।


        राजेन्द्र कुमार तिवारी ने बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे कार्यों की समीक्षा करते हुये निर्देश दिये कि मिट्टी एवं स्ट्रक्चर निर्माण कार्य में तेजी लायी जाये। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे हेतु अवशेष भूमि का अधिग्रहण शीघ्र प्राप्त करने हेतु सम्बन्धित जिलाधिकारियों से अनुरोध कर लिया जाये। उन्होंने यह भी कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की भांति बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे कार्यों को निर्धारित अवधि में पूर्ण कराने हेतु सम्बन्धित कार्यदायी संस्थाओं के साथ बैठक कर पुनरीक्षित (त्मअपेमक) समय-सारिणी निर्धारित कर ली जाये।


      बैठक में अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टण्डन, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं गृह तथा मुख्य कार्यपालक अधिकारी यूपीडा अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आलोक कुमार, प्रमुख स्टाफ आॅफिसर मुख्य सचिव पंकज कुमार सहित सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।