जिलाधिकारी ने विभिन्न धार्मिक स्थलों पर किया निरीक्षण

       


       अयोध्या, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने विभिन्न धार्मिक स्थलों यथा-हनुमानगढ़ी, कनक भवन , नागेश्वर नाथ मंदिर, राम जन्मभूमि आदि में कोविड-19 से बचाव हेतु किए गए उपायों का किया निरीक्षण।
निरीक्षण के दौरान पाया गया कि सभी धार्मिक स्थलों में सरकार एवं जिला प्रशासन द्वारा कोविड-19 से बचाव हेतु जारी किए गए दिशा-निर्देशों के अनुसार धार्मिक स्थलों के प्रवेश द्वार पर सैनिटाइजर एवं थर्मल स्कैनिंग की व्यवस्था की पाई गई, सभी धर्म स्थलों पर सोशल डिस्टेंस को बनाए रखने हेतु दो-दो गज की दूरी पर गोले भी बनाए गए हैं। नियमित डिसइनफेक्ट करने की व्यवस्था की गई है। धार्मिक स्थलों के अंदर एक साथ 5 से अधिक श्रद्धालु को प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन किया जा रहा है।


       जिलाधिकारी ने कहा कि कोविड-19 के प्रसार को रोकने व इससे बचाव के संबंध में सभी धर्मों के धर्मगुरुओं के साथ बैठक कर कोविड-19 से बचाव  व इसके प्रसार को रोकने हेतु जारी सभी दिशानिर्देशों का अनुपालन  सुनिश्चित कराने की अपील की गई थी, जिसका सभी धर्म गुरुओं द्वारा अनुपालन कराया जा रहा है। जिलाधिकारी ने अयोध्या के बड़े मंदिरों में के साथ-साथ सभी छोटे मंदिरों व अन्य धार्मिक स्थलों जहां श्रद्धालु जाते हैं पर भी जिला प्रशासन द्वारा कोविड-19 से बचाव हेतु जारी दिशा-निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित कराने वह लोगों को जागरूक करने हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए।


             


    जिलाधिकारी ने पुनः धर्म गुरुओं से अपील की है कि बिना मास्क पहने किसी भी व्यक्ति को प्रवेश न दें, धार्मिक स्थल में सोशल डिस्टेंसिंग के पालन हेतु 2-2 गज की दूरी पर गोला अवश्य बनवाएं, प्रवेश करने के पूर्व सभी का थर्मल स्क्रीनिंग कराएं, किसी भी संक्रमित व्यक्ति अथवा सर्दी जुखाम खांसी के लक्षण वाले व्यक्ति को प्रवेश की अनुमति न दें। उन्होंने सभी धार्मिक संस्थानों से ध्वनि विस्तारक यंत्र के द्वारा समय-समय पर कोरोना वायरस से बचाव हेतु सभी उपाय करने, सावधानियां बरतने की अपील व संदेश प्रसारित करते रहने को कहा है। साथ ही धार्मिक स्थल के मुख्य प्रवेश द्वार व निकास द्वार पर कोविड-19 से बचाव हेतु जारी दिशा-निर्देशो का स्टैन्डीध्पोस्टर लगाने की व्यवस्था करने को कहा।


       


    उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा धार्मिक स्थलों के सम्बन्ध में जारी गाइडलाइन का धार्मिक स्थल के स्वामी, प्रबंध समिति अनुपालन अवश्य करायें। इसमें किसी भी समय किसी भी प्रकार की परेशानी होने पर तत्काल कण्ट्रोल रूम या उच्चाधिकारियों को सूचित करें।