लेखपाल प्रवासी श्रमिकों के खाता संख्या, योग्यता एवं दक्षता का डोर-टू-डोर करें सत्यापन-जिलाधिकारी



       प्रतापगढ़, जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार की अध्यक्षता में आज कैम्प कार्यालय के सभागार में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव, रोकथाम एवं आमजनमानस को आवश्यक सुविधाये सुनिश्चित कराने हेतु बैठक की गयी। बैठक में जिलाधिकारी ने समस्त उपजिलाधिकारियों एवं तहसीलदार को निर्देशित करते हुये कहा कि जनपद में जो भी प्रवासी श्रमिक/कामगार आये है उनकी जो डाटा फीडिंग की गयी है उसके सम्बन्ध में सभी लेखपाल डोर-टू-डोर जाकर प्रवासी श्रमिकों के बैंक खाता संख्या, आई0एफ0एस0सी0 कोड का मिलान पास बुक से करना सुनिश्चित करें।  सत्यापन के दौरान लेखपाल प्रवासी कामगारों के योग्यता एवं दक्षता के विषय में भी जानकारी प्राप्त करें ले जिससे उन्हें उनकी योग्यता के अनुरूप जनपद में ही कार्य उपलब्ध कराया जा सके। उन्होने कहा कि प्रवासी श्रमिकों के खाता संख्या एवं आई0एफ0एस0सी0 कोड सत्यापन के दौरान पूरी सावधानी बरती जाये और सत्यापन में किसी भी स्तर पर शिथिलता एवं लापरवाही क्षम्य नही होगी क्योंकि यह शासन की शीर्ष प्राथमिकता में से है। 


      जिलाधिकारी ने श्रम प्रर्वतन अधिकारी से प्रवासी कामगारों के योग्यता और दक्षता के सम्बन्ध में डाटा फीडिंग की जानकारी ली तो बताया गया कि जनपद में आये हुये प्रवासी श्रमिकों में से 26677 प्रवासी श्रमिक ऐसे चिन्हित किये गये है, जो लेबर कार्य का कार्य करते है एवं 6000 प्रवासी श्रमिक ट्रेड योग्यता वाले है जिनमें प्लम्बर, इलेक्ट्रिशियन, सिलाई, ड्राइवर आदि कार्यो से सम्बन्धित है। उन्होने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित करते हुये कहा कि रेलवे स्टेशन पर आने वाले यात्रियों का सोशल डिस्टेसिंग का पालन कराते हुये स्वास्थ्य परीक्षण किया जाये।यदि किसी भी प्रवासी श्रमिक या लोगों मेंं कोरोना संक्रमण के लक्षण पाये जाते है तो उसकी रिपोर्ट सैम्पल हेतु भेजी जाये। जब तक रिपोर्ट प्राप्त न हो जाये तब तक उन्हें मेडिकल क्वारेन्टाइन में रखा जाये।


     जिलाधिकारी ने रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा एवं व्यवस्थाओं के दृष्टिगत उपजिला मजिस्ट्रेट सदर, क्षेत्राधिकारी नगर तथा डा0 एस0के0 सिंह उप मुख्य चिकित्साधिकारी को जिम्मेदारी सौपी है। उन्होने अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि ग्राम निगरानी समितियों को सक्रिय कर उनके माध्यम से होम क्वारेन्टाइन किये गये लोगों पर कड़ी नजर रखी जाये तथा शासन द्वारा दिये गये निर्देशों का कड़ाई से पालन कराया जाये।  बैठक में अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) शत्रोहन वैश्य, मुख्य राजस्व अधिकारी श्रीराम यादव, उपजिलाधिकारी सहित समस्त तहसीलदार एवं सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।