लॉकडाउन फेल-राहुल गांधी

 




 






  1. कोरोना संकट पर राहुल गांधी का वार

  2. राजीव बजाज से बातचीत में लॉकडाउन को बताया फेल


      कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कोरोना वायरस संकट के बीच उद्योगपति राजीव बजाज से कई मसलों पर बात की. लॉकडाउन होने के कारण देश में रोजगार का संकट पैदा हुआ है, इस मसले पर दोनों के बीच बातचीत हुई. इस दौरान राहुल गांधी ने एक बार फिर लॉकडाउन को फेल करार दिया और कहा कि जबतक ऊपर से नीचे ऑर्डर होते रहेंगे, तबतक स्थिति मुश्किल की बनी रहेगी.


       राजीव बजाज के साथ बातचीत में राहुल गांधी ने कहा कि जब कोरोना संकट आया तो हमने कांग्रेस पार्टी के अंदर एक गंभीर चर्चा की थी. राहुल बोले कि हमारी चर्चा ये हुई थी कि राज्यों को ताकत देनी चाहिए और केंद्र सरकार को पूरा समर्थन देना चाहिए. केंद्र को रेल-फ्लाइट पर काम करना चाहिए था, लेकिन सीएम और डीएम को जमीन पर लड़ाई लड़नी चाहिए थी.








       यह बिल्कुल बुनियादी है। मैंने देखा कि जर्मनी, अमेरिका, कोरिया, जापान ने अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए बहुत बड़े पैमाने पर पैसा डाला। आप इसे बड़े व्यवसाय, छोटे व्यवसाय, मजदूर के रूप में नहीं हमारी अर्थव्यवस्था के रक्षण के रूप में देखते हैं: @RahulGandhi


 




 



 

       कांग्रेस नेता ने एक बार फिर दोहराया कि मेरे हिसाब से लॉकडाउन फेल है और अब केस बढ़ रहे हैं. अब केंद्र सरकार पीछे हट रही है और कह रही है राज्य संभाल लें. भारत ने दो महीने का पॉज बटन दबाया और अब वो कदम उठा रहा है जो पहले दिन लेना था. प्रवासी मजदूरों के मसले पर राहुल गांधी बोले कि मुझे समझ नहीं आ रहा है कि सरकार लोगों के हाथ में पैसा क्यों नहीं दे रही है, राजनीति को भूलिए लेकिन इस वक्त लोगों को पैसा देने की जरूरत है.कांग्रेस नेता ने कहा कि लॉकडाउन के बीच उनकी कई बार सरकार में काम करने वाले लोगों से हुई है. राहुल बोले कि सरकार के व्यक्ति ने मुझसे कहा कि इस वक्त चीन के मुकाबले भारत के सामने काफी मौका है, अगर हम मजदूरों को पैसा देंगे तो बिगड़ जाएंगे और काम पर नहीं आएंगे. हम बाद में इन्हें पैसा दे सकते हैं, इस तरह की बातें मुझे कही गईं.