एक दिवसीय जागरूकता अभियान, किसान गोष्ठी का आयोजन

 

अयोध्या, आयुक्त कार्यालय के गांधी सभागार में जिलाधिकारी अनुज कुमार झा की अध्यक्षता में कोविड-19  संक्रमण से बचाव संबंधी सभी उपायों का अनुपालन करते हुए जनपद स्तरीय

एक दिवसीय जागरूकता अभियान किसान गोष्ठी का आयोजन कर जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी के साथ-साथ अन्य संबंधित अधिकारियों व कृषि वैज्ञानिकों द्वारा किसानों को फसल अवशेषों से मिट्टी की गुणवत्ता बढ़ाने वह उससे होने वाले लाभों के साथ ही सरकार द्वारा कृषकों हेतु चलाई जा रही विभिन्न जन कल्याणकारी योजना की विस्तृत जानकारी प्रदान की गई।

        गोष्ठी को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी श्री झा ने कृषकों से पराली न जलाने हेतु दृढ़ संकल्पित होने की अपील करते हुए कहा कि कोई भी कृषक कतई पराली न जलाए, पराली  जलाने से मिट्टी की उर्वरा शक्ति कमजोर होने के साथ-साथ भारी मात्रा में वायु प्रदूषण भी होता है पराली जलाना कानूनन जुर्म है इसके अंतर्गत पराली जलाने वाले को 15 हजार रुपए तक के जुर्माने के साथ साथ जेल की सजा का भी प्रावधान है। उन्होंने जिला पंचायत राज अधिकारी वह जिला कृषि अधिकारी को जनपद के सभी ग्रामों में गोष्ठी आयोजित कर कृषकों को फसल अवशेषों से मिट्टी की गुणवत्ता बढ़ाने और उससे लाभ के बारे में लोगों को जागरूक करने हैं गोष्ठी आयोजित कर लोगों को जागरूक करने के निर्देश दिए हैं जो गोष्ठी में उक्त के साथ है फसल अवशेष जलाने से होने वाले नुकसान व इससे संबंधित सजा एवं जुर्माने के बारे में भी लोगों को अवगत कराएंगे तथा लोगों को पराली को पशु आश्रय स्थलों में दान देने हेतु प्रोत्साहित /अपील करेंगे।

          जिलाधिकारी ने कहा कि कृषक भाई पराली को जलाने के बजाय विभिन्न कृषि यंत्रों एवं अन्य उपायों का प्रयोग कर अपनी मिट्टी की उर्वरा शक्ति को बढ़ाने व उसका लाभ लेने का कार्य करें उन्होंने किसान भाइयों से पराली को पशु आश्रय स्थलों में देने का अनुरोध किया, ग्राम सभा स्तर से भी आश्रय स्थलों के लिए पराली एकत्रित करने की अपील की जिससे पशु आश्रय में पशुओं को चारे की व्यवस्था के साथ-साथ किसानों को छुट्टा पशुओं से भी छुटकारा में सहायता मिलेगी। जिलाधिकारी ने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री व हमारी सरकार किसानों के हित के लिए पूरी संवेदनशीलता वह शिद्दत के साथ कार्य कर रहे हैं  जिस तरह मा0 मुख्यमंत्री जी किसानों से जुड़ी हुई सभी योजनाओं पर गंभीरता पूर्ण ध्यान रहता है और छोटी-छोटी बातों पर विशेष ध्यान देते हैं  उसी  को लक्ष्य मानकर सरकार द्वारा चलाई जा रही सभी योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ लाभार्थियों तक पहुंचाने का कार्य जनपद में किया जा रहा है।

         इस अवसर पर जिलाधिकारी ने गेहूं के सीजन में गेहूं क्रय केंद्रों पर गेहूं खरीद को सुचारू रूप से संपन्न कराने की सराहना करते हुए बताया कि जनपद में आगामी एक नवंबर से धान क्रय केंद्रों को संचालित किया जाना है जिसकी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं उन्होंने कहा कि कृषकों से सीधे धान क्रय केंद्रों पर धान क्रय करने की पूरी व्यवस्था बनाई गई है कहीं पर भी बिचैलिए के माध्यम से धान क्रय न हो के लिए जिला प्रशासन पूरी सजगता से कार्य कर रहा है। इस अवसर पर जिलाधिकारी द्वारा भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही एग्रीकल्चर इन्फ्राट्रक्चर फंड योजना की भी विस्तृत जानकारी प्रदान की गई तथा जनपद में अधिक से अधिक कृषकों को इसका लाभ देने हेतु सभी संबंधित विभागों को लक्ष्य निर्धारित किया गया है जिलाधिकारी ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत निर्धारित धनराशि किसानों के खाते में सीधे प्रदान की जा रही है इसमें किसानों के आधार करेक्शन का कार्य चल रहा है उन्होंने कहां की इससे संबंधित किसी भी समस्या के निराकरण हेतु उपनिदेशक कृषि से संपर्क कर सकते हैं। जिला अधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के सभी लाभार्थियों का किसान क्रेडिट कार्ड बनाने का सरकार का लक्ष्य है जिसके लिए जिला कृषि अधिकारी को नोडल बनाया गया है उन्होंने  कहा कि सभी कृषक भाई किसान क्रेडिट कार्ड जरूर बनवाएं इससे संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या होने पर व जिला कृषि अधिकारी से संपर्क कर सकते हैं।

          इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि कोविड-19 का खतरा अभी टला नहीं है किंतु बहुधा गांव एवं बाजारों में भीड़ भाड़ देखने को मिल रही है। उन्होंने सभी कृषकों से एवं जनपद वासियों से अपील करते हुए कहा कि कोविड-19 के संक्रमण से अभी भी सतर्क रहने की आवश्यकता है अतः सभी लोग अनिवार्य रूप से मास्क लगाएं तथा सोशल डिस्टेंस का पालन करें जिलाधिकारी ने कहा कि सरकार एवं प्रशासन की तरफ से कोविड-19 को कंट्रोल करने हेतु औकात नहीं है मेहनत की गई है जिसका परिणाम है कि विश्व के अन्य देशों की अपेक्षा भारत में स्थिति अच्छी है और पूरे भारत की अपेक्षा उत्तर प्रदेश की स्थिति बहुत ही अच्छी है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के दौरान सरकार द्वारा एक एक व्यक्ति की चिंता की गई सभी जरूरतमंदों को राशन के साथ-साथ संक्रमण के फैलाव को रोकने हेतु कोविड-19 की जांच, दवा व बेहतर उपचार की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। जिलाधिकारी ने कहा कि कोविड-19 के दृष्टिगत लॉकडाउन के दौरान विभिन्न योजनाओं के कार्य पुजारियों की कमियों को पूरा करने का कार्य तेजी से किया जा रहा है किसान हित से जुड़ी हुई सभी योजनाओं का निश्चित रूप से लक्ष्य पूर्ण किया जाएगा।

          गोष्ठी में मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी द्वारा जनपद में 1 अक्टूबर से चलाए जा रहे खुरपका मुंहपका टीकाकरण अभियान के दौरान सभी किसानों को अपने अपने पशुओं का अनिवार्य रूप से टीकाकरण कराने व उनकी टैगिंग कराने की अपील की गई उन्होंने बताया कि जनपद में 6,22,000 पशु हैं, सभी पशुओं को इस अभियान के अंतर्गत टैगिंग करने करने का लक्ष्य है, सभी किसान भाई अपने पशुओं का टैगिंग जरूर कराएं आने वाली योजनाओं में भी टैगिंग के आधार पर ही उन्हें लाभ मिलेगा।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी प्रथमेश कुमार, उपनिदेशक कृषि, जिला कृषि अधिकारी के साथ-साथ कृषि विज्ञान केंद्र मसौधा के कृषि वैज्ञानिक डॉक्टर एस के यादव, पशु अनुसंधान केंद्र मसौधा से डॉ बिंदेश्वरी प्रसाद, नरेंद्र देव कृषि विश्वविद्यालय के कृषि वैज्ञानिकों आदि के द्वारा सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं व आधुनिक कृषि से संबंधित जानकारियां प्रदान की गई।