निर्धारित समयावधि में किसानों का अवशेष भुगतान कराया जाए-मुख्य सचिव

 मुख्य सचिव की अध्यक्षता में धान खरीद की समीक्षा बैठक आयोजित ,गतवर्ष से कम खरीद करने वाले जनपदों में दैनिक खरीद की समीक्षा करते हुए खरीद बढ़ाई जाए, निर्धारित समयावधि में किसानों का अवशेष भुगतान कराया जाए। 





लखनऊ -  मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी की अध्यक्षता में धान खरीद की समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। अपने सम्बोधन में मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने कहा कि गतवर्ष से कम खरीद करने वाले जनपदों में दैनिक खरीद की समीक्षा करते हुए खरीद बढ़ाई जाए। उन्होंने कहा कि भुगतान हेतु निर्धारित समयावधि में किसानों का अवशेष भुगतान कराया जाए। कस्टम चावल का सम्प्रदान तेजी से भारतीय खाद्य निगम के डिपों में कराया जाये। उन्होंने भण्डारण की समस्या के दृष्टिगत महाप्रबन्धक भारतीय खाद्य निगम को निर्देश दिये के प्रदेश के बाहर खाद्यान्न का आउटवर्ड मूवमेन्ट कराया जाये तथा अतिरिक्त भण्डारण क्षमता का चिन्हीकरण कर कस्टम चावल का भण्डारण कराया जाये। 

बैठक में खाद्य आयुक्त मनीष चैहान द्वारा बताया गया कि प्रदेश में अब तक 55.00 लाख मी0टन0 क्रय लक्ष्य के सापेक्ष 61.78 लाख मी0टन0 खरीद की गयी है, जो कि लक्ष्य का 112 प्रतिशत है। कुल 1185000 किसानों को लाभान्वित किया गया है तथा 9459 करोड़ रुपये का भुगतान किसानों के सीधे बैंक खातों में पी0एफ0एम0एस0 के माध्यम से किया गया। गतवर्ष इस अवधि में 49.48 लाख मी0टन0 की खरीद हुई थी।
 
बैठक में यह भी बताया गया कि धान खरीद में लापरवाही व अनियमितता पाये जाने पर 78 एफ0आई0आर, 54 निलम्बन की कार्यवाही तथा 16 विभागीय कार्यवाही, 38 केन्द्र प्रभारियों के विरूद्ध प्रतिकूल प्रविष्टि, 297 केन्द्र प्रभारियों को चेतावनी व 1033 कर्मचारियों के विरूद्ध कारण बताओ नोटिस निर्गत तथा 141 मिलर/ठेकेदार को नोटिस निर्गत 05 कर्मचारियों की गिरफ्तारी, 05 ठेकेदार/व्यापारी का लाइसेन्स निलम्बन, 01 लाइसेन्स निरस्तीकरण, 02 गिरफ्तारी की गयी हैं। इस प्रकार कुल 1818 कार्यवाहियां की गयी हैं। 

बैठक में अपर मुख्य सचिव सहकारिता, अपर मुख्य सचिव कृषि, प्रमुख सचिव खाद्य एवं रसद, निदेशक मण्डी परिषद, महाप्रबन्धक भारतीय खाद्य निगम तथा क्रय संस्थाओं के प्रदेश स्तरीय एवं अन्य सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।