लोक अदालत में 20199 मुकदमों का निस्तारण

 लखनऊ। आज सम्पन्न हुई राष्ट्रीय लोक अदालत में जनपद लखनऊ में चेक बाउन्स केसेज, बैंक रिकवरी केसेज, आपराधिक शमनीय वाद, वैवाहिक वाद, मोटर एक्सीडेंट क्लेम पिटीशन वाद, किरायेदारी वाद, सुखाधिकार, व्यादेश, उत्तराधिकार आदि दीवानी वादों तथा राजस्व वादों का भी निस्तारण किया गया।

माननीय जनपद न्यायाधीश, लखनऊ सर्वेश कुमार की अध्यक्षता एवं मार्गदर्शन में आज दिनांक 10.07.2021 को जनपद न्यायालय, लखनऊ में  राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया, जिसमें माननीय जनपद न्यायाधीश द्वारा अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश कुमार अवस्थी व सदस्य सचिव, राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण श्री जे0के0 सिंह के साथ सिविल कोर्ट परिसर का भ्रमण किया गया। उनके द्वारा कोविड-19 की गाईड लाईन का पालन करते हुए मुकदमों को निस्तारित किये जाने के आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये।  


  राष्ट्रीय लोक अदालत में ई-चालान मामलों में उत्तर प्रदेश राज्य में पहली बार जनपद लखनऊ में वादकारियों ने घर बैठकर आन लाईन जुर्माना न्यायालय द्वारा दिये गये लिंक पर जमा करके अनेकों मामलों का निस्तारण करवाया। माननीय जनपद न्यायाधीश, लखनऊ सर्वेश कुमार द्वारा यह भी बताया गया कि कोविड महामारी के कारणवश आम आदमी को सुरक्षित रखते हुए उन्हें घर से जुर्माना जमा करने की एक नयी व्यवस्था जनपद न्यायालय, लखनऊ द्वारा इस राष्ट्रीय लोक अदालत में प्रारम्भ की गयी है। इस व्यवस्था का लाभ वादकारियों को अनवरत् रूप से अब आगे भी मिलता रहेगा।


माननीय जनपद न्यायाधीश, लखनऊ सर्वेश कुमार द्वारा 32 निष्पादन वाद निर्णीत किये गये, जिसके अन्तर्गत रूपये 1,26,90,533/- की धनराशि तय हुई। इसी प्रकार, एक लघुवाद, जिसके अन्तर्गत रू0 43,38,352/- की धनराशि तय हुई, का निस्तारण किया गया। इस प्रकार,  माननीय जनपद न्यायाधीश, लखनऊ श्री सर्वेश कुमार द्वारा स्वयं 33 मामलों का निस्तारण करते हुए कुल रू0 1,70,28,885/- की धनराशि तय की गयी।


इसी प्रकार, फौजदारी के 9872 वादों का निस्तारण विभिनन फौजदारी न्यायालयों द्वारा किया गया, जिनमें रू0 1203975/- जुर्माने के रूप में प्राप्त किये गये। मोटर दुर्घटना प्रतिकर के 84 वादों का निस्तारण किया गया, जिसमें पक्षकारों को रू0 46078000/- की धनराशि प्रतिकर के रूप में दिलायी गयी। 19 वैवाहिक वादों का निस्तारण किया गया। सिविल व उत्तराधिकार के कुल रू0  33452832/- की धनराशि के 49 मामलों का निस्तारण किया गया।  138 एन0आई0 एक्ट चेक बाउन्स के 888 वादों का निस्तारण किया गया। इस प्रकार इस राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 11546 लम्बित वादों का रिकार्ड निस्तारण विभिन्न न्यायालयों द्वारा किया गया।


इसके अतिरिक्त बैंक वसूली व फाईनेंस के प्री-लिटिगेशन स्तर पर 777 वादों का जनपद न्यायालय में निस्तारण किया गया, जिनकी समझौता राशि रू0 67884898/- सम्बन्धित पक्षकारों  द्वारा जमा करवाकर मामले निस्तारित किये गये।इस प्रकार, जनपद लखनऊ में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में आज दिनांक 10.07.2021 को कुल 20199 मुकदमों का निस्तारण किया गया।