पंचायत चुनाव में लोकतंत्र कि हत्या से भाजपा की जीत



उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सीएम योगी आदित्यनाथ और राज्य सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि बीजेपी (BJP) के राज में हद से ज्यादा गुंडागर्दी हो रही है. इसकी कल्पना कभी नहीं की थी. अखिलेश यादव ने लखीमपुर में महिला के साथ हुए दुर्व्यवहार की घटना पर भी योगी सरकार से सवाल पूछे.

 सपा सुप्रीमो ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता को पंचायत चुनाव से पता चला कि बीजेपी से बड़ी गुंडागर्दी वाली पार्टी कोई नहीं हो सकती है. प्रशासन को साथ लेकर गुंडागर्दी की गई. हमारे कार्यकर्ताओं के हाथ-पैर तोड़े गए. सीएम योगी गुंडागर्दी का एक्सपेरिमेंट सबसे पहले गोरखपुर में करते हैं. बीजेपी ने सभी को धन्यवाद किया, लेकिन पुलिस को धन्यवाद क्यों नहीं किया? अगर पुलिस को ना लगाया होता तो ब्लॉक प्रमुख चुनाव के परिणाम अलग होते.

कोविड के समय नहीं दिखी सरकार-

अखिलेश यादव ने कहा कि कोविड के समय लोगों को तकलीफ का सामना करना पड़ा. उस वक्त लगा ही नहीं कि यूपी में कोई सरकार है, लोगों को उनके हाल पर छोड़ दिया गया. लोग दवाई के लिए भागते नजर आए, बेड नहीं मिला, ऑक्सीजन नहीं मिली. सरकार का कहीं पता नहीं चला, हमारे आपके बहुत से करीबी लोगों की जान चली गई. हमने अपनों को खो दिया. हम उनकी जान नहीं बचा पाए. इसके लिए बीजेपी की सरकार जिम्मेदार है.

जनता का समर्थन समाजवादी पार्टी के साथ –

सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने कहा कि जिला पंचायत सदस्य के चुनाव में जनता का समर्थन समाजवादी पार्टी के साथ था. हमारे बीडीसी और प्रधान सबसे ज्यादा जीते. लेकिन जनादेश की बीजेपी को कोई परवाह नहीं है. लोकतंत्र में ऐसा नंगा नाच किसी सरकार में नहीं हुआ. इतनी गुंडागर्दी की कोई कल्पना नहीं कर सकता था. अगर कोई पर्चा लेने गया तो वहां प्रशासन ने पर्चा छीनने का इंतजाम किया.


लखीमपुर घटना पर पूछे सवाल –

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि लखीमपुर में हुई घटना का वीडियो सबके सामने है. वहां बहनों का अपमान हुआ. हमने दोनों बहनों से मुलाकात की. इटावा के एसपी सिटी खुद कह रहे हैं कि बीजेपी के विधायक, जिलाध्यक्ष पथराव करके और कानून व्यवस्था खराब कर रहे हैं. एसपी सिटी अपमानित हो जाए, एसपी सिटी झापड़ खा जाए, इसकी परवाह सरकार को नहीं है. यूपी में पत्रकार पीटे जा रहे हैं, लेकिन सरकार को परवाह अपना मुंह मीठा करने की है.उन्होंने आगे कहा कि समय आने पर जनता बीजेपी को सबक सिखाएगी. कोरोना में सही आंकड़े सरकार ने नहीं दिए. कितने लोगों की मौत कोरोना से हुई, सही आंकड़े सरकार नहीं बताना चाहती क्योंकि सरकार उनके परिवार वालों की मदद नहीं करना चाहती है.


भाजपा ने पुलिस व प्रशासन की मदद से क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष का चुनाव जीता है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने लोकतंत्र की धज्जियां उड़ाई हैं। उन्होंने कहा कि जिला पंचायत अध्यक्ष व क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में जितनी गुंडागर्दी हुई उतनी किसी चुनाव में नहीं हुई। अगर प्रशासन का इस्तेमाल न होता तो चुनाव के परिणाम कुछ और होते।अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार की इस हरकत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बधाई दे रहे हैं जो कि शर्मनाक है क्योंकि इन चुनाव में गुंडागर्दी का नंगा नाच हुआ है।